Monday, October 9, 2017





Sign Of Addiction In Indian Palmistry

check your hand if you are suffering from alcohol addiction

Addiction Line On Hand In Palmistry


In palmistry there are so many signs which indicates addiction of drugs and alcohol, etc and because of bad habits and liquor addiction subject is not able to get success in his/her life, destroy his/her career.

Two Common Signs On Hand For Alcoholism

 1). Branch of Mars Line goes to Mount of Moon then person gets into some bad habit, addiction, alcohol, drugs, etc.

2). If your little finger is too short then there are always chances of alcohol addiction and urinary disorder. 




राजयोग वाला हाथ हस्तरेखा (Rajyog Hastrekha)

If you do not understand Hindi then you can also see this article in English. Click here to read this article in English.

Indications of people having Raj Yoga in palm

hath mein raj yog kaise banta hai

राजयोग वाला हाथ हस्तरेखा

मनुष्य के जीवन में जो भी योग बनता है सब भाग्य से ही बनता है। अगर किसी की भाग्य अच्छी होती है तो उसके हाथ की रेखाएं जन्म से ही अच्छी होती है तथा हाथ का आकार भी शुभ लक्षणों से युक्त होता है। राजयोग का अर्थ है कि नेता, राजनेता अभिनेता, मंत्री, राजा आदि जैसा रहन-सहन एवं शान शौकत हो, उसे राजयोग कहा जा सकता है। जिन स्थितियों में रेखाओं द्वारा राज योग बनता है, उन स्थितियों को प्रस्तुत चित्र में अधिक से अधिक दर्शाया गया है। 




rajyog and gajkesari yog on hand in palmistry

प्रस्तुत हाथ की अंगुलिया सीधी है जीवन रेखा से एक शाखा शनि पर्वत की ओर प्रस्थान कर रही है जिसे अन्य भाग्य रेखा भी कहा जाता है। सभी अंगुलियां समान स्थान से निकली हुई है, कम से कम तीन अंगुलियों का आधार समान होना तथा अन्य लक्षण मिलना राजयोग कहलाता है। इनके हाथ का अंगूठा लंबा होता है मस्तिष्क रेखा में किसी भी प्रकार का दोष नहीं पाया जाता। ये हमेशा बौद्धिक कार्य करते हैं तथा बड़े पदवी को संभालते हैं।

ऐसे व्यक्तियों  का हाथ बहुत कोमल एवं मुलायम होता है तथा इनमें सहनशीलता खूब होती है। इनके हाथ के सभी ग्रह उन्नत होते हैं तथा हाथ का रंग लाल होता है, जो सभी दोषों को नष्ट कर देता है। इन्हें यात्रा करने का अपना अलग ही तरीका होता है। शनि की अंगुली लंबी है जिससे यह स्पष्ट हो रहा है कि धन और सफलता दोनों इनका साथ दे रहा है।  

ऐसे व्यक्तियों  के हाथ पर गुरु ग्रह के क्षेत्र में किसी भी प्रकार की खराब रेखाएं नहीं होती तथा गुरु ग्रह उन्नत होता है। अच्छी जीवन रेखा के साथ भाग्य रेखा भी अच्छी ही होती है। भाग्य रेखा और जीवन रेखा परस्पर दूर होना एवं मस्तिष्क रेखा शीर्ष रेखा में अन्तर होने से ये व्यक्ति दान करने में आगे होते हैं तथा पैतृक प्रतिष्ठा एवं सम्पति के स्वामी होते हैं। यदि ऐसे हाथ में सूर्य रेखा कटी हो, गुरु पर अशुभ चिन्ह हो या शुक्र क्षेत्र में उभार हो, तो ऐसे लोगों का भाग्योदय देर से होता है। मस्तिष्क रेखा निर्दोश हो, मणिबंध स्पष्ट हो तथा भाग्य रेखा मणिबंध से शुरु होकर शनि पर्वत पर जाय, ऐसे लोग जन्म से ही भाग्यशाली तथा समाज के कल्याणकारी प्राणियों में से होते हैं।

ऐसे लोगों में महत्वाकांक्षा खूब होती है जिसके फलस्वरूप प्रतिष्ठा एवं प्रसिद्धि पाने में झंझट नहीं होता। इन लोगों के पास साही ठाठ-बाठ के अलावा समस्त भौतिक सामग्री  पाई जाती है।







मित्र व शत्रु रेखाए - Friend and Enemy Lines Indian Palmistry


enemy and friend lines on hand


मित्र व शत्रु रेखाए
( Friend Lines/Enemy Lines )


प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में मित्र व शत्रु होते है जिनसे व्यक्ति को समय-समय पर लाभ और नुकसान होता है ।  

हस्तरेखा से जानते है की आपके शत्रु अधिक है या मित्र ?

हमारी उंगलियों पर पर्व बने हुए होते है यदि आप ध्यानपूर्वक इन पर्वो के मध्य में देखेंगे तो पायेंगे की कई खड़ी व आड़ी रेखाए बनी हुई होती है । खड़ी रेखाए मित्रो का प्रतीक है व आड़ी रेखाए दुश्मनों का प्रतीक है । अर्थात यदि आपकी उंगलियों के पर्वो के मध्य अधिक आड़ी रेखाए है तो आपके हितेषी कम ही होंगे व बुरा चाहने वाले अधिक होंगे । इसके विपरीत यदि खड़ी रेखाए अधिक है व आड़ी रेखाए कम है तो आपके हितेषी अधिक होंगे ।

यदि उंगलियों के पर्वो पर खड़ी और आड़ी रेखाओ का आभाव है तो व्यक्ति का जीवन बाहरी दुनिया से कटा हुआ होता है अर्थात न दुश्मन और न ही दोस्त ।

यदि उच्च मंगल से कोई आड़ी रेखा आकर आपकी भाग्य रेखा को काट देती है तो समझ लीजिए की आपको जीवन में निश्चित ही किसी से धोखा मिलेगा या आपका दुश्मन आपको नुक्सान पहूचायेगा ही । ऐसे दुश्मन प्राय "आस्तीन के साँप" की तरह होते है जो वक्त मिलने पर धोखा दे देते है ।

यदि भाग्य रेखा और सूर्य रेखा को शुक्र पर्वत से आती हुई आड़ी रेखा काट देती है तो इसका अर्थ ये की परिवार वालो का विरोध या परिवार वालो की वजह से ही धनहानि व मानहानि का सामना करना पद सकता है । यदि रेखा शुक्र पर्वत से निकल कर भाग्य रेखा से मिल रही है तो व्यक्ति को परिवार वालो की मदद मिलती है।

अगर आपके हाथ में अधिक रेखाओ का जाल बना हुआ है तो समझ लीजिये दोस्त भी दुश्मनी निकालेंगे मतलब वक्त पड़ने पर असली चेहरा बता देंगे । अगर हाथ में मकड़जाल बना हुआ तो व्यक्ति को अपने किये हुए काम की प्रशंसा नहीं मिलती और भलाई करने पर बुराई मिलती है । ऐसे व्यक्ति को घर-परिवार और दोस्तों से सहारा या कोई लाभ नहीं मिलता है ।

यदि हाथ में राहु रेखा है तो समझ जाय की निश्चित धोखा जीवन में मिलेगा । यदि राहु रेखा कमज़ोर और छोटी है तो धोखा बड़ा नहीं होगा लेकिन अगर राहु रेखा मजबूत और प्रबल है तो आपको दुश्मन बर्बाद कर देगा ।

यदि हाथ से अँगूठे से अर्धचन्द्राकार रेखा प्रथम पोर से निकल कर जीवन रेखा भाग्य रेखा को काट देती है तो व्यक्ति पर जानलेवा हमला होता है या फिर दुश्मन हावी रहता है । ऐसे व्यक्ति को दुश्मनो से सावधान रहना चाहिए और किसी से भी बिना मतलब के बैर नहीं मोल लेना चाहिए मतलब किसी दूसरे के झगड़े में नहीं पड़ना चाहिए ।

इसके उल्ट अगर हाथ साफ़ है रेखाओ का जाल नहीं है और सूर्य रेखा और भाग्य रेखा मजबूत है तो आपको दोस्तों रिस्तेदारो की मदद मिलेगी और अच्छा फ्रेंड सर्किल रहेगा। ऐसा व्यक्ति बड़े लोगो के संपर्क में आ कर जीवन में तरक्की करता है।





अधुरा प्रेम व प्रेम में धोखा ( Adhura Prem Va Prem Mein Dhokha - Indian Palmistry )


 Adhura Prem Va Prem Mein Dhokha


अधुरा प्रेम व प्रेम में धोखा (Adhura Prem Aur Prem Mein Dhokha)


आजकल भारत में युवक व युवतिया अपने प्रेम-प्रसंग को लेकर चर्चा का विषय बने रहते है। युवक युवतिया अपने अधूरे प्रेम व प्रेम में मिले धोखे के किस्से यहाँ-वहा सुनते रहते है । आईये हस्तरेखा से जानते है की प्रेम में धोखा क्यों मिलता है व क्यों प्रेम अधुरा रह जाता है। 
love mein dhokha
Fig-A1

यदि चन्द्र पर्वत से कोई प्रभाव रेखा निकल कर के भाग्य रेखा को मिलती है और उसके बाद भाग्यरेखा दोषयुक्त हो जाती है अर्थात टूट जाती है या द्वीप्युक्त हो जाती है तो ऐसे में प्रेम में धोखा मिलता ही है या प्रेम-विवाह के पश्चात दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।  (fig- A1)



jyotish mein shadi ka tootna aur divorce hona
Fig-A2

यदि ऐसी प्रभाव रेखा भाग्य रेखा को काट दे तो स्त्री को पुरुष से और पुरुष को स्त्री से धोखा मिलता ही है।  (fig-A2)



pati ka dokha dena jyotish
Fig A3

यदि चन्द्र पर्वत से निकलने वाली प्रभाव रेखा और भाग्य रेखा को यदि शुक्र पर्वत से आने वाली प्रभाव रेखा अगर काट दे तो प्रेम-विवाह में परिवार वालो का विरोध होता है।  (fig A3)


shadi mein dokha milna
Fig A4

यदि भाग्य रेखा पर उच्च मंगल से कोई रेखा आकर मिलती है तो ऐसे व्यक्ति को प्रेम में निराशा ही मिलती है।  ऐसे प्रेम में स्वार्थ छुपा होता है।  ऐसे व्यक्ति को बहुत मुश्किल से अपना प्यार मिलता है।  (Fig A4)



आप इन योग के साथ विवाह रेखा को भी अवश्य देखे अगर विवाह रेखा झुकी, टूटी, दो शाखायुक्त या छोटी है तो समझे व्यक्ति के साथ अवश्य होगा। 




धनाड्य व दरिद्र योग | Hastrekha | Indian Palmistry
palmistry rich man ameer aadmi ka hath

hastrekha
Fig-1

धनाड्य व दरिद्र योग


गरीब (gareeb) का गरीबी में दुखी जीवन और अमीर (ameer) का अमीरी में सुखी जीवन व्यतीत होता है। हम सब हमेशा ऐसा ही सोचते है की भगवान् ने किसी को गरीब और किसी को अमीर क्यों बनाया ? वास्तिवकता में इस सवाल का जवाब मिल पाना असंभव सा है , हालांकि चलन में यही है की व्यक्ति अपने पूर्व के जन्म में किये कर्मो का फल इस जीवन में भोगता है। ज्योतिष हस्तरेखा में भी ये ही पाया जाता है व्यक्ति को अचानक धनलाभ होता है और किसी व्यक्ति को अचानक धननाश होता है और ये पिछले जन्म के कर्मो की बदौलत ही व्यक्ति के साथ होता है।

कौन से चिन्ह और योग होते है जिन से व्यक्ति अचानक अमीर या गरीब बन जाता है ?

यदि हाथ में अच्छी भाग्यरेखा व साथ ही अच्छी सुर्य रेखा भी हो तो व्यक्ति निसंदेह अपने जीवन में सुख-सिमृधि का आनंद लेता है व इसके विपरित्त यदि हाथ में भाग्यरेखा व सुर्य रेखा का आभाव हो तो व्यक्ति को जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

धनाड्य व्यक्ति के हाथ में भाग्य रेखा का उदय चन्द्र/केतु पर्वत से होता है और वह शनि पर्वत पर निर्दोष समाप्त होती है।  भाग्य रेखा दोषमुक्त होनी चाहिये ना की कटी-फटी होनी चाहिए अर्थात उसको कोई भी अवरोध रेखा नहीं काटती हो।  भाग्य रेखा के साथ ही अच्छी निर्दोष सूर्य रेखा भी होनी चाहिए।  यदि हाथ में ऐसी भाग्य रेखा और सूर्य रेखा है तो निसंदेह व्यक्ति विलासिता का जीवन व्यतीत करने वाला होगा।  (fig-1)

Fig 2


जो व्यक्ति जन्मकाल से अमीर होता है उसके अंगुष्ठ के प्रथम व दिव्तीय पर्व के मध्य आँख (द्वीप) बनी हुई होती है।  (fig-2)

hastrekha mein ameer aur gareeb
Fig-3

दरिद्र व्यक्ति के हाथ (Daridra Yog In Hindi) में भाग्य रेखा व सूर्य रेखा का प्राय: अभाव ही होता है।  दरिद्र व्यक्ति के हाथ में रेखाओ का जाल बना होता है।  जिस व्यक्ति के हाथ में रेखाओ का जाल बना हुआ होता है उस व्यक्ति को जीवन में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।  भाग्य रेखा व सूर्य रेखा प्रभावहीन हो जाती है।  रेखाओ के मकडजाल बन जाने के कारण जीवन में पग-पग पर बाधाये आती रहती है।  (Fig 3)

अर्थात, भाग्य रेखा व सूर्य रेखा जितनी निर्दोष व स्पष्ट होगी व्यक्ति को उतनी सफलता मिलेगी और भाग्यरेखा व सूर्य रेखा जितनी दोषयुक्त होगी व्यक्ति को उतनी ही कठिनाइया उठानी पड़ेगी।

-नितिन कुमार

Copyright © 2011. All right reserved.




Hatheli Pr Til Ka Hona | HAST REKHA SHASTRA
shubh aur ashubh fal til mole aur birthmark aur wart aur massa ka


Til (Mole Ya Birthmark) Ka Hona


Til badan par kahi bhi ho sakta hai. Bahut baar til janam ke sath hi badan ke kisi ang par bana hua hota hai aur bahut baar baad mein najar aane lagta hai. Jyadatar aurat aur purush ke badan ke ango par til ka matalb ek jaisa hi hota hai lekin kaafi jagah par matlab alag-alag bhi hota hai. Visheshkar til ko bura hi mana jata hai. Samudrik Shastra mein til ke barein mein vistar se bataya gaya hai.

Til aapko pata hai bahut rang ke hote hai aur badi aur chotti size mein hote hai. Vigyan halaki til ko nahi manta hai aur kahta hai ki ye skin tag hai aur kuch nahi hai.

Massa aur til alag alag hote hai halaki bolne mein mole bola jata hai ya phir freckle ya birthmark bhi bolte hai lekin hindi mein massa aur til alag hote hai. Waise massa ko english mein wart bhi bolte hai.

Jyadatar ya aamtor par massa naak ke pass ya hott ke upar ya aankh ki palak par hota hai jo ki shubh fal dete hai.

Aamtor par ye dharana hai ki massa ya til agar purush ke right side ki body par hai to accha hai aur aurat ke left side ki body par hai to accha yani ki shubh faldayak hai aur agar iske viprit hota hai to ashubh prabhav dekhne ko milta hai.

Is post mein hum sampurna sharir par til hone ki vivechana na kar ke sirf hatheli par jo til pay jaate hai unke barein mein aapko batayenge.

Hastrekha Vigyan: Hatheli Pr Til

Hastrekha Vigyan mein til ka bahut mahatv hai. Til ko english mein mole kaha jata hai.

Jyadatar hatho kala krishna bindu (black mole) hi dekhne ko milta hai. Til ke kai prakaar hote hai jaise:- Safed, laal, peela, neela, bhura, kala, itayadi. Til ka aakaar chotta aur bada bhi ho sakta hai. Ye til hatheli pr alag alag jagah dekhne ko milte hai aur sabhi ka alag alag jagah ke anusaar faladesh hota hai. Adiktar til bimari, bhidant or khrab samay ko darshate hai.

Til Ke Prakaar

Safed til - Is prakaar ka til accha sanket deta hai aur jyadatar nakho (nails) pr hi paya jata hai.

Laal til - Is prakaar ke til acche nahi hote hai kyuki is prakaar ke til bhidant or durghatana ka sanket dete hai.

Peela til - Is prakaar ke til bhi acche nahi hote hai kyuki is prakaar ke til bimari ka sanket dete hai, khoon ki kami hona, itayadi.

Krishana Bindu til (kala til) - Is prakaar ke til jyadatar acche nahi hote hai lekin kuch jagah pr ye til accha prabhav bhi rakhte hai. Yadi hahteli ke madya mein kala til hai to vykti sobhagayashali hota hai. Aise vykti ke pass apaar samapti hoti hai.

Bhure til - Is prakaar ke til bhi kaley til jaisa hi prabhaav rakhte hai lekin kaley til se kuch kam prabhaavkari hote hai.

Hateli mein jydatar kala til hi paya jata hai isliye hum yaha pr kale til ki hi charcha karenge

Kala Til Parvato Par


Guru Parvat - Shaadi mein takleef aati hai ya to shaadi late hoti hai ya phir vevahik jeevan sukhmay nahi hota hai. Aise vykti ko jeevan mein dhanhani aur manhani ka samna karna padta hai.

Shani Parvat - Aise vykti ka durbhagaya uska peecha nahi chodta hai. Aise logo ko kaan, peeth aur daanth ki takleef rahati hai.

Ravi Parvat - Aise vykti ko jeevan mein kalank ka saamna karna padta hai aur aise logo ko netra peeda aur sir mein dard ki shikayat hoti hai.

Budh Parvat - Aise vykti ko vypaar mein dhan hani hoti hai aur vaani (bolne) se sambhandit rog hota hai.

Mangal Parvat - Aise vykti ko sir mein chot lagti hai. Aisa vykti darpok hota hai aur aatamdah ka pryaas karta hai.

Chandra Parvat - Aise vykti ki shaadi late hote hai aur usko shardi jukaam aur najale ki shikayat rahati hai.

Shukar Parvat - Aise vykti ko sex samasya rahati hai. Aisa vykti vilasita ka jeevan jeeta hai.

Ketu Parvat - Aise vykti bachpan mein bimaar hote hai aur skin ki bimari hoti hai.

Rahu Parvat - Aise vykti ko achanak dhan prapt hota hai lekin dhan ka nash bhi ho jata hai.

Til Rekhaon Par

Rekhaon pr til shuruat, madya aur aakhir mein paya jata hai or us samay ki gannana (calculation) karni hoti hai.

Jeevan Rekha - Jeevan rekha pr til sharirik aur parivarik kast (peeda) deta hai.

Mastak Rekha - Mastak rekha pr til sirdard, mastak mein chot lagna or dhanhani karata hai.

Hridya Rekha - Hridya rekha pr til hridya ko durbal banata hai aur prem mein dokha batata hai.

Ravi Rekha - Ravi rekha pr til asafalta aur kalank lagna batata hai.

Bhagya Rekha - Bhagya rekha pr til dhanhani aur parivarik samasya ko batata hai.

Swasthaya Rekha - Swasthya rekha pr til lambi bimari ko batata hai aur diwaliya hone ka sanket deta hai.

Vivah Rekha - Vivah rekha pr til vevahik jeevan ko nust kar deta hai aur santaan hone mein kast deta hai.

Mangal Rekha - Mangal rekha pr til hone pr vykti darpok ban jata hai aur sirdard ki shikayat rhati hai.

Chandra Rekha - Chandra Rekha pr til hone pr vykti ko asafalta milti hai.

Yatra Rekha - Yetra rekha pr till hone pr vykti ki yatra ke doraan bhidant hoti hai aur yatra asafal hoti hai.

Til Ungliyo Par

Ungliyo par til ka prabhaav wo hi dekhne ko milta hai jo ki unke parvato pr paaya jata hai.

Aap jab bhi til ko dekh kar faladesh karein to haat ki baaki rekhaon aur chinho ko bhi avashya dekhe aur phir hi faladesh karein.

Read this article in English : Black Mole Hand Reading




वैवाहिक जीवन और विवाह रेखा - हस्तरेखा

वैवाहिक जीवन और हस्तरेखा


वैवाहिक जीवन और हस्तरेखा और उपाय  


आप अपनी हस्तरेखा से अपने वैवाहिक जीवन का अनुमान लगा सकते है।  आपको इसके लिए अपनी छोटी ऊँगली के नीचे स्थित आड़ी रेखाओ का अध्ययन करना होगा।  इन्ही आड़ी रेखाओ को विवाह रेखा कहा जाता है।

यदि आपकी विवाह रेखा बहुत छोटी है तो निश्चित ही विवाह कलहपूर्ण रहेगा।

यदि आपकी विवाह रेखा नीचे की और मुड़ी हुई या झुकी हुई तो ऐसे व्यक्ति का वैवाहिक जीवन भी अच्छा नहीं होता है।

यदि विवाह रेखा द्विशाखा हो जाय तो भी ऐसे व्यक्ति का वैवाहिक जीवन अच्छा नहीं रहता है।

यदि विवाह रेखा को कोई खड़ी रेखा काट दे तो ऐसे व्यक्ति का वैवाहिक जीवन अच्छा नहीं रहता है।  ऐसे व्यक्ति का विवाह मजबूरी में होता है।

यदि विवाह रेखा के समान्तर विवाह रेखा चल रही हो ऐसे व्यक्ति का वैवाहिक जीवन भी अच्छा नहीं रहता है। ऐसा व्यक्ति का सम्बन्ध घर के बहार भी रहता है।

यदि प्रथम विवाह रेखा छोटी है व उसके पश्चात विवाह रेखा लम्बी है तो इसका अर्थ है व्यक्ति का विवाह उस आयु में होगा जिस आयु में लम्बी विवाह रेखा है लेकिन छोटी विवाह रेखा से आप ये अनुमान लगा सकते है की व्यक्ति का सम्बन्ध या लगाव कुछ समय के लिए उस समय रहा होगा जिस समय वह छोटी विवाह रेखा है।

जिस व्यक्ति के विवाह रेखा शनि पर्वत पर चली जाती व्यक्ति का विवाह दुखद रहता है।

जिस व्यक्ति की विवाह रेखा सूर्य रेखा या सूर्य पर्वत पर जा जाती है ऐसे व्यक्ति का भाग्य विवाह के पश्चात बदल जाता है या विवाह उच्चे कुल में होता है।

यदि आपके विवाह में समस्या है तो आप ये उपाय करें :-

1. एक शहद की छोटी शीशी ले और एक भोजपत्र का टुकड़ा ले उस पर लाल स्याही से अपने पति या पत्नी का उल्टा लिखे व लिखने के पश्चात उस टुकड़े को उस शहद की शीशी में डाल दे व 21 बार इस मंतर को बोले "ॐ श्री हनुमंते नम:" व् ढक्कन लगा दे और शीशी को कही छुपा कर रख दे। आप कुछ ही दिनों में अनुभव करेंगे की आपकी वैवाहिक जीवन में आपको लाभ मिल रहा है।

2. आप हर सोमवार को सफ़ेद चावल बना कर उनको ठंडा कर के गाय को खिलाय आपको अपने वैवाहिक जीवन में अत्यंत लाभ मिलेगा।

3. यदि आपके पति परमेश्वर आप से नाराज़ है और आप की बात नहीं सुनते तो आप प्रत्येक शुक्रवार को खीर बना कर उनको खिलाय। आपको लाभ महसूस होगा कुछ ही समय के अन्दर।

4. तीन नारियल व एक किलो लकड़ी का कोयला अमावस्या को पानी में बहा दे , ऐसा आपको लगातार तीन अमावस्या करना है आपके विवाह में जो भी समस्या है वो हल होगी।

5. यदि आपके पति किसी और स्त्री के संपर्क में है तो आप अपनी तर्जनी ऊँगली से केले के पत्ते पर उस औरत का नाम लिखे और फिर उस पर जूता या चप्पल मारे और उस पत्ते को नष्ट कर दे।  आपको हल्दी की स्याही बना कर अपनी तर्जनी ऊँगली से केले के पत्ते पर लिखना है। ऐसा कुछ दिन लगातार करें। आपको जल्दी ही उस औरत से छुटकारा मिल जायगा।

6. यदि आपके पति किसी और स्त्री के संपर्क में है तो जब आपके पति उस औरत के पास जा कर घर आय तब आप अपने पति का रुमाल , अंडरवियर या कोई भी कपडा चुपचाप चूल्हे में जल दे और रख बहार फैक दे और अपने पैरो से मसल दे ऐसा करने से आपको जल्दी ही उस औरत से छुटकारा मिल जायगा।

आगे और जानकारी दी जायगी और आप अपने वैवाहिक जीवन को कैसे अच्छा बना सकते है उस के लिए उपाय भी बताये जायेंगे।

7. यदि आप तावीज़ चाहते है अपने वैवाहिक जीवन को सुखद के तो मुझे संपर्क कर सकते है।
Instagram





PALM READING SERVICE


SEND ME YOUR PALM IMAGES FOR DETAILED & PERSONALIZED PALM READING



Question: I want to get palm reading done by you so let me know how to contact you?
Answer: Contact me at Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in.


Question: I want to know what includes in Palm reading report?

Answer: You will get detailed palm reading report covering all aspects of life. Past, current and future predictions. Your palm lines and signs, nature, health, career, period, financial, marriage, children, travel, education, suitable gemstone, remedies and answer of your specific questions. It is up to 4-5 pages.



Question: When I will receive my palm reading report?

Answer: You will get your full detailed palm reading report in 9-10 days to your email ID after receiving the fees for palm reading report.



Question: How you will send me my palm reading report?

Answer: You will receive your palm reading report by e-mail in your e-mail inbox.



Question: Can you also suggest remedies?

Answer: Yes, remedies and solution of problems are also included in this reading.


Question: Can you also suggest gemstone?

Answer: Yes, gemstone recommendation is also included in this reading.


Question: How to capture palm images?

Answer: Capture your palm images by your mobile camera or you can also use scanner.


Question: Give me sample of palm images so I get an idea how to capture palm images?

Answer: You need to capture full images of both palms (Right and left hand), close-up of both palms, and side views of both palms. See images below.



Question: What other information I need to send with palm images?

Answer: You need to mention the below things with your palm images:- 



  • Your Gender: Male/Female 
  • Your Age: 
  • Your Location: 
  • Your Questions: 

Question: How much the detailed palm reading costs?

Answer: Cost of palm reading:


  • India: Rs. 600/- 
  • Outside Of India: 20 USD

( For instant palm reading in 24 hours you need to pay extra Rs. 500 or 15 USD ) 
(India: 600 + 500 = Rs. 1100/-)
(Outside Of India: 20 + 15 = 35 USD) 

Question: How you will confirm that I have made payment?

Answer: You need to provide me some proof of the payment made like:

  • UTR/Reference number of transaction. 
  • Screenshot of payment. 
  • Receipt/slip photo of payment.

Question: I am living outside of India so what are the options for me to pay you?

Answer: Payment options for International Clients:

International clients (those who are living outside of India) need to pay me 20 USD via PayPal or Western Union Money Transfer.

  • PayPal (PayPal ID : nitinkumar_palmist@yahoo.in)
    ( Please select "goods or services" instead of "personal" )
  • PayPal direct link for $20 (You will get reading in 9/10 days) - PayPal Payment 20 dollars
    PayPal direct link for $35 (You will get reading in 24 hours) - PayPal Payment 35 dollars
  • Western Union: Contact me for details.

Question: I am living in India so what are the options for me to pay you?


Answer: Payment options for Indian Clients:

  • Indian client needs to pay me 600/- Rupees in my SBI Bank via netbanking or direct cash deposit.

  • SBI Bank: (State Bank of India)
       Nitin Kumar Singhal
       A/c No.: 61246625123
       IFSC CODE: SBIN0031199
       Branch: Industrial Estate
       City: Jodhpur, Rajasthan. 



  • ICICI BANK: 
      (Contact For Details)

Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in



FREE PALMISTRY ARTICLES


In this palmistry website you will find palmistry articles in both Hindi and English languages with pictures, figures and diagrams. If you are interested in palmistry and want to become an expert then this blog will be helpful for you and guide you how to read palms.

You can learn basics of palmistry, lines on hand, signs on hand, and you can learn about Indian Palmistry here.


लाल किताब के प्रभावशाली टोटके


यदि आप पारिवारिक या व्यवसायिक समस्या से मुक्ति पाना चाहते है तो यहाँ दिए गए उपायो को एक बार अवश्य करें । आपको अवश्य लाभ होगा । आज अधिकतर लोग किसी न किसी परेशानी से ग्रस्त है । किसी को व्यापार में घाटा हो रहा है , किसी को नौकरी नहीं मिल रही है , कोई भूत-प्रेत या ऊपरी हवाओ से परेशान है, कोई संतान के न होने से दुखी है तो कोई भयंकर रोगो से ग्रस्त है ।

यहाँ पर प्राचीन टोन टोटके द्वारा  अनेक समस्याओ का समाधान प्रस्तुत किया गया है ।

राशि रत्न



अपना राशि रत्न प्राप्त करें । सभी राशियों के रत्न लैब से प्रमाणित  मिलते है । यदि आप अपना राशि रत्न लेना चाहते है तो व्हाट्सप्प पर संपर्क करें ।

Whatsapp No:- 8696725894




Client's Feedback - OCTOBER 2017



If you don’t have your real date of birth then palmistry is there to help you for future life predictions.  Our palm lines, signs, mounts and shapes which are very useful in predicting the person’s life. We can predict your future from the lines and signs of your both palms. We can predict your future by studying your palm lines and signs. There is no need to send us your date of birth , time of birth , place of birth etc . Palm told the personality ,future ups and downs thus a experienced palmist can guide you to deal with upcoming challenges with vedic remedies.

Learn Palmistry Tutorial


Indian Palmistry Blog - Brief summery of Indian Palmistry (Hindi name of lines and signs)- Pradhan Rekhae Aur Unke Naam (Main Lines) - 1. Jeevan Rekha (Line of Life) 2. Mastisk Rekha (Line of Head) 3. Hridya Rekha (Line of Heart) 4. Surya Rekha (Line of Sun) 5. Bhagya Rekha (Line of Fate) 6. Swastaya Rekha (Line of Health) - Gaun Rekahe Aur Unke Naam (Secondary Lines) - 1. Mangal Rekha (Line of Mars) 2. Vasana Rekha/Suman (Line of Via Lascivia) 3. Vivah Rekha (Line of Marriage) 4. Atinindhriya Rekha/Chandra Rekha (Line of Intution) 5. Putra-Putri Rekhae/Santan Rekhae (Line of Sons and Daughters) 6. Bhai-bahan Rekha (Line of brothers and sisters) 7. Mitra Rekhae (Line of Friends) 8. Bandhav Rekhae (Lines of Relatives) 9. Yatra Rekahe (Lines of Travels) 10. Manibhandh Rakhae (Lines of Bracelates)(Nitin Kumar Palmist) 11. Diksha Rekha/Guru mudrika/Bhrihaspati chandrika (Ring of Soloman) 12. Shani Chandrika (Ring of Saturn) 13. Surya Chandrika (Ring of Sun) 14. Budh Chandrika (Ring of Mercury) 15. Shukra Mekhela (Girdle of Venus) 16. Vidhya Rekhae (Line of education) 17. Nikrist Rekahe (Worst Lines) 18. Prabhavik Line (Line of Influence) 19. Rahu Rekha (Line of Worry) 20. Aadi Rekhae (Vertical lines) 21. Khadi Rekhae (Horizontal lines) 22. Sahayak Rekha (Supporting Line) 23. Urdho Rekhae (All the lines ascend towards the fingers) 24. Kapi Rekha (Triangle in the end of the Life, Head, Heart, Sun and Fate Lines) 25. Sarpa Rekha (Wavy Line) 26. Kuthara Rekha (Sword like sign) 27. Machhli/Macchli Rekha (Fish tail/Fish Sign/Fish Line) 28. Khandhit Rekha (Split Line) 29. Yavmala (Chained line) 30. Gopuch Rekha (Cow tail) 31. Dweeshakayukt Rekha (Forked Line) 32. Janjirdaar Rekha (Crossed line) 33. Siddidaar Rekha (Ladder type line) 34. Kamsutra Rekha/Kamshakti Rekha (Lust Line) - Haath Pr Chinha Aur Unke Naam - 1. Gunaak Chinha(Cross Sign) 2. Nakhastra/Tara Chinha(Star Sign) 3. Trikon Chinha (Trangle Sign) 4. Varg/Chatuskaun Chinha (Square Sign) 5. Dweep Chinha (Island Sign) 6. Macchli/Matsya Chinha (Fish Sign) 7. Jaal Chinha (Grill Sign) 8. Magarmacch Chinha (Crocodile Sign) 9. Shankh Chinha (Conch Sign) 10. Khstara/Dandh/Dhvaja/Chanwar/Pataka Chinha (Flag Sign) 11. Sinhasan Chinha(Throne Sign ) 12. Dhanush Chinha (Bow Sign) 13. Kamal Chinha (Lotus Sign) 14. Parvat Chinha (Rock Sign) 15. Bhala Chinha (Spear Sign) 16. Talwar Chinha (Sword Sign) 17. Mayur Chinha (Peacock Sign) 18. Ghada Chinha (Pot Sign) 19. Darpan Chinha (Mirror Sign) 20. Trishul Chinha (Trident Sign) 21. Ped Chinha (Tree Sign) 22. Mandir Chinha (Temple Sign) 23. Swastik Chinha

Indian Palm Reading Blog (Palmistry Blog/Website) - You can learn about Lines on Hand : Marriage Line, Fate Line, Sun Line, Life Line, Heart Line, Head Line. Signs on Hand : Girdle of Venus, Trident, Trishul, Fish sign, Temple Sign, Rajyog, Triangle, Square, Island, Mole, Til, Cross and Flag Sign. You can learn Vedic or Hindu Palmistry, Hastrekha, Hast Rekha, Hastrekha Shastra, Hastrekha Gyan in this Astrology-Palmistry Blog. Free Palm Reading articles available in both English and Hindi. Also Vashikaran Totke and Mantra or Lal Kitab Totke and Upay available in both English and Hindi. Try and Tested Totke for any problem like "Apne Pyar Ko Pane Ka Totka" , "Naukari Pane Ka Mantra" , etc.