Friday, May 25, 2018

Indian Tone Totke Aur Upay In Hindi | Lal Kitab

(1)
लॉटरी से धनप्राप्ति का टोटका | Lottery Jitne Ka Upay Mantra Aur Totka


Lottery Jitne Ka Upay Mantra Aur Totka


Lottery Se Dhan Prapti Ka Upay Aur Totka

लॉटरी और धन प्राप्ति के लिए बहुत सरल टोटका या उपाय नीचे दिया जा रहा है इसको करने के पश्चात आपको लोटरी जुए में सफलता मिल सकती है।  आपका रुका हुआ धन आपको वापिस मिल सकता है। 

विधि : शनिवार की शाम के समय उड़द के साबुत दो दाने लेकर उस पर थोड़ा सा दही और सिंदूर डाल दें।  उसके बाद उसके बाद उसको पीपल के पेड़ के नीचे रख दे। रखने के बाद पीछे मुड़कर न देखें वार्ना लाभ नहीं होगा।  इस टोटके को नियमित 21 दिन तक करें।  आपको निःसंदेह धन लाभ होगा। 

21 दिन बाद अपना भाग्य लाटरी में आजमाय भगवान् ने चाहा तो आपको सफलता जरूर मिलेगी। 



(2)
Aurat Ki Photo Se Usko Vash Me Karne Ka Totka

Aurat Ko Photo Se Vash Me Karne Ka Totka


Aurat Ko Photo Se Vash Me Karne Ka Totka

अगर आप किसी लड़की या शादीशुदा औरत को चाहते है और उसे से अपने दिल की बात नहीं कह पाते है और आप चाहते है की वो औरत खुद आकर आपके पास अपने प्यार का इजहार करे तो ये विधि आपकी मनोकामना पूरी कर सकती है। 
नोट :-
एक बार वश में होने के बाद स्त्री 379 दिनों तक आपके वश में रहती है और उस वशीकरण को खत्म नहीं किया जा सकता है , तो इसे सोच समझ के करे . वश में होने के बाद स्त्री जैसा आप कहोगे वैसा ही करेगी, इसलिए इसे किसी गलत मन भाव से इस्तेमाल न करे.

Aurat Ko Vash Me Karne Ka Totka

सामग्री :-


उस औरत की फोटो
लाल सिंदूर
कपूर की 2 टिक्की
और अपना खुद का कोई इस्तेमाल किया हुआ कपड़ा
केसर
7 बासमती चावल के दाने
चीनी मिला हुआ पानी
विधि :-

पुरुष जिस शादी शुदा स्त्री को मोहित करना चाहते है उस स्त्री की फोटो के ऊपर अच्छे से सिन्दूर लगा दे फिर कपूर की टिक्की , केसर और चावल के दाने , अपने कपड़े में डाल के बांध ले और रात को सारा सामान अपने तकिये के पास रख कर सो जाये सुबह उठ के चिन्नी वाला पानी पी के , निचे जमीन पर बैठ जाये और रात वाला सामान जमीन पे रख ले और निचे दिया हुआ मंतर 21 बार पढे ||
मंत्र :- ॐ हरिम क्रीम अमुकम आकर्षय (स्त्री का नाम ) वषयं कुरु कुरु स्वहहा ||
और मन ही मन उस स्त्री को अपनी तरफ बुलाये .जाप खत्म होने के बाद किसी सुनसान जगह में जाकर ये सारा समान जला दे या दफना दे ये विधि आपको कम से कम 5 शुक्रवार करनी है। 

सावधानियाँ :-
विधि खत्म होने के बाद उस औरत से खुद फ़ोन या मैसेज में बात न करे,वो खुद आपके पास आएगी इस विधि को 1 से ज्यादा औरत पर ना करें। 

सिर्फ शुक्रवार से ही शुरू करें . इसे किसी गलत मन भाव से इस्तेमाल ना करे , नहीं तो ये उल्टा असर भी दिखा सकती है। 



(3)
शाबर मंत्र और टोटके | Shabar Mantra Aur Totke

शाबर मंत्र और टोटके से पुरुष का वशीकरण करना।  आपके पति आपको प्यार नहीं करते है आपकी बात नहीं सुनते है और आपका ख्याल नहीं रखते है तो आप ये शबरी के टोटके को आजमा कर देखिये आपको आराम मिलेगा।


शाबर मंत्र और टोटके 

शाबर मंत्र और टोटके से पुरुष का वशीकरण करना।  आपके पति आपको प्यार नहीं करते है आपकी बात नहीं सुनते है और आपका ख्याल नहीं रखते है तो आप ये शबरी के टोटके को आजमा कर देखिये आपको आराम मिलेगा। 


जब आपकी योनि में से रक्त स्राव (मासिक धर्म) शुरू हो जाय तब शुद्ध गोरोचन और अपनी योनि के रक्त को मिलकर अपने सर (दोनों भोहों के बीचो बीच ठीक बिंदी के ऊपर ) पर तिलक लगा ले और फिर अपने पति के साथ सहवास (सेक्स) करें ऐसा कुछ बार करें आपको कुछ ही बार करने पर अपने पति के अंदर  परिवर्तन नजर आने लगेगा और आपके पति आपके अंदर इंटरेस्ट लेने लगेंगे | लड़किया अपने प्रेमी पर भी कर सकती है। 



Shabar Mantra Aur Totke


Shabar mantra aur totke se pati vashikaran karna.  Aapke pati aapko pyar nahi karte hai aur aapki baat nahi mante hai aur aapka khyal nahi rakhte hai to aap ye shabari ka totka aajma sakti hai.


Jab aapki yoni mein khoon (masik dharam) aane lag jaay tab shudh gorocharan aur apni yoni ke rakt ko mila kar apne sir (dono eyebrows ke beecho-beech bindiya ke upar) laga lena hai aur phir sahwas (sex) karna hai.  Aisa aapko kuch dino tak karna hai aur aisa kuch baar karne par aapko apne pati ke andar change najar aane lag jaayga aur aapko pyaar karne lag jaayenge aur aap mein interest lene lag jaayenge. Ladkiya apne boyfriend par bhi kar sakti hai.



Agar Married life ya Love life mein jyada problem hai to aur upay bhi diye gaye hai aap unko bhi aajma sakte ho-


Love Ke Liye Chamakari Tone Totke 




(4)
Peepal Ke Patte Se Premika Ko Apne Pass Bulane Ka Upay
Aapne Peepal ke ped ki puja karte hue to dekha hoga logo ko khastor par aurato ko dekha hoga.
Peepal Ke Patte (leaf) Se Vashikaran

Aapne Peepal ke ped ki puja karte hue to dekha hoga logo ko khastor par aurato ko dekha hoga.  Peepal ke ped ka vishesh mahatva hai hindu dharam mein aur aise manyta hai ki peepal ke ped ko jal dene se buri najar, kala jadu aur anistha (burey) graho ka prabhav khatham ho jata hai.


Bharat mein kuch log aisa bhi maante hai ki peepal ke ped mein bhooto ka vaas hota hai aur raat ko peepal ke ped ke neeche nahi sona chahiye kyuki peepal ke ped ke upar raat ko bhoot rahate hai jo ki vastav mein mithya (kalpanic) hai.


Aaj yaha par mein aapko batane ja raha hu ki aap peepal ke patte se apni naraj premika ko kaise wapis apni life mein la sakte hai.  Is upay ko koi ladkiya bhi kar sakti hai aur ladke bhi kar sakte hai matlab koi bhi insan kar sakta hai.  Is upay se aap apne pati, patni, boss, friend, girlfriend, boyfriend ya kisi amukh vykti ka vashikaran kar sakte hai.


Wo aurate yani patniya bhi kar sakti hai jinko pati ne ghar se nikal diya hai aur pati talak ki demand kar rahein hai.  Is upay ko karne se unke pati unko wapis apne sath rakhne ko razi ho jate hai.


Ye upay behad saral hai aur aapka is mein koi kharcha nahi aayga. Upay is prakaar hai:-


Aapko shaniwar ko peepal ke ped se 2 pattey tod lene hai aur apni premika ya patni (ya jis vykti ko aap chahate hai) uska naam dono peepal ke patto par laal pen se likh dena hai aur ek patte ko wahi gadda kar ke bhur (gaad) dena hai aur uske upar bhaari patthar rakh dena hai aur phir dusare patte ko apne ghar ki chatt par ulta kar ke rakh dena hai aur us par bhi bhari pathar rakh dena hai.


Bhari pathar rakhte wakt aapko vykti ka pura naam bolna hai aur us vykti ki mother ka pura naam bolna hai aur bolna hai ki ye vykti aapki life mein wapis aa jaay aur jo bhi aapki ikccha hai.  Phir ab aapko rozana us hi peepal ke ped ko paani dena hai.  Pani aap kabhi de sakte hai lekin regular paani dena jaroori hai aur us hi peepal ke ped ko paani dena hai.


Aap dekhogey ki kuch hi hafto mein wo vykti aapko apne aap contact kar lega aur uske andar aapke liye prem aa jaayga.


Jab ek baar kaam ho jaay to jo patta ghar ki chatt par rakha hua hai usko bhi us hi peepal ke ped mein wapis rakh de.


Ye bahut baar aajmaya hua aur behad saral upay hai apne pyar ko wapis lane ke liye lekin isko badniyat se na karein warna aapko nuskan ho sakta hai.




(5)

जल्दी शादी होने का टोटका | Totke Aur Upay

 Totke Aur Upay

Aapki beti ki umar ho gayi hai lekin abhi tak shadi nahi hui hai aur aap isko le kar paresan hai to yaha par saral upay diya ja raha hai aap wo kar ke labh utta sakte hai-

Aajkal ladkiya adhik umar tak kunwari rah jaati hai kyuki pehly padai aur phir apna career banana aur phir job karna aur is chakkar mein ristey ke liye na-na karti hai aur phir baad mein rista aana hi band ho jaate hai aur phir paresan ho kar yaha waha jyotishiyo ke pass bhatakti rahti hai aur poochti rahti hai ki meri shadi kab hogi?

ये पोस्ट भी जरूर पढ़ें -

लोगो के आजमाय हुए अचूक उपाय 


लाल किताब के चमत्कारी टोटके और उपाय


Husband Wife Ka Jhagra Khatam Karne Ka Saral Upay

Ladki ya beti ke vivah mein deri ka karan jyotish ke anusaar guru ka kamzor hona hai agar ladki ki kundli mein guru makar, kumbh rashi ka ho ya phir shani ke sath ho ya phir paap graho ki drishti guru par pad rahi ho to aise mein ladki ka vivah late hota hai ya phir agar vivah ho jata hai to talaak bhi jaldi ho jata hai.

Beti ki shaadi jaldi ho jaay uske upay-


1). Ladki ke pita ko chahiye ki wah beti ko 5 ratti ka pukhraj tridhatu mein jadwa kar baay (ulte) hath ki pratham ungli mein guruwar ko uttar disha ki taraf mukh karke pahana de aur sath hi 7 ratti ka firoza chandi mein madwakar sukurwar ko ladki ke baay (left) haath mein sabse chotti ungli mein dkhashin ki taraf mukh karwa kar pahnwa de aur agar ladki ka saptmesh bhi kamzor hai to us grah ki angoothi bhi apni beti ko turant pahana deni chahiye.


Aisa karne par ladki ke liye ristey aane shuru ho jaayengey aur ladki ka vivah jaldi sampann ho jaayga bina kisi rukawat ke.


2).  Beti ko boliye har guruwar shaam ko 5 se 6 bajey ke beech ek taambe ke lottey mein jal bhar ke peepal ke ped mein chaday aur 7 chakkar laga le aur man mein prathana kar le ki uska vivah acche ghar mein jaldi ho jaay.  Aisa karne se jald hi vivah ka yog banega aur vivah ho jaayga.


3).  Haldi ki ganth ko guruwar ko shamshan bhoomi par peeskar le aay aur ladki ko boley ki rozana abhi nabhi (sundi) par lagay aur lalaat par iska tilak lagay. 



Kya aapki shaadi mein rukawat aa rahi hai?


Yadi aapki umar kaafi ho gayi hai aur shaadi nahi ho rahi hai ya phir aapko apni manpasand ki ladki ya shaadi ke liye manpasand ladka nahi mil raha hai to aapko chinta karne ki jaroorat nahi hai aap yaha par batay hue saral upay kar sakte hai aur aapki shaadi mein aa rahi rukwat door ho jaaygi aur aapki manpasand shadi ho jaaygi.





Lal Kitab Ke Upay For Early Marriage-


1.  Har guruwar ke din shaam ko jab suraj doob raha ho tab peepal ke ped par tambe ke lottey se jal chadana hai aur 7 gud ki daliya, 7 haldi ki daliya, peela rumaal, aur channa daal (thodi si) chadani hai aur phir peepal ke ped ki 7 baar parikarma kar leni hai aur har bolna hai ki meri shaadi jaldi ho jaay.  Peepal ke ped ke neeche agarbatti jaroor jalay.


2.  Har somwar "shiv parvati" mandir jaroor jaay aur shivling par jala-abhishek karein.


3.  Jaldi vivah hone ke liye Budhwar ko ek nariyal kisi yellow kapde mein lapet kar apne sirhane rakh kar so jaay aur guruwar ko subah usko kapde samet jal-pravah kar de.  Aisa 7 guruwar kar le aapka vivah jaldi ho jaayga.




(6)

Baccho Ko Buri Nazar Se Bachane Ke Liye Upay




बहुत बार ऐसा  होता है की बच्चो को नजर बहुत लगती है और इलाज करवाने से भी ठीक नहीं होते है।  या फिर घर पर कुछ न कुछ बीमारी लगी रहती है और सारा पैसा बीमारी में ही जाता है।


बहुत बार ऐसा  होता है की बच्चो को नजर बहुत लगती है और इलाज करवाने से भी ठीक नहीं होते है।  या फिर घर पर कुछ न कुछ बीमारी लगी रहती है और सारा पैसा बीमारी में ही जाता है। या फिर आपका दुश्मन आप के ऊपर टोन-टोटके करवाता है और आपके घर में कलह, बीमारी और नकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।

यहाँ पर नीचे बहुत अच्छे उपाय दिए जा रहे है जिनको करने से आप अपने बच्चे और अपने परिवार को बुरी नजर से बचा कर सकती है।


उपाय एक -


उतारा :-
अपने घर के सामने की सड़क और घर के बीच की जगह पर जो मिट्टी हो मतलब जहाँ से लोग आपके घर के अंदर आते हो वहा  से थोड़ी से थोड़ी सी मिट्टी ले लेनी है और थोड़ी सी पीसी हुई लाल मिर्ची और थोड़ी सी राई और थोड़ा सा नमक लेना है और इन सब चीज़ो को एक साथ मिला कर के बीमार व्यक्ति या फिर नजर लगे व्यक्ति या फिर जिस व्यक्ति पर किया-कराया हो उस व्यक्ति के ऊपर से सात बार उभार कर के इसको घर के तवे पर जला दे और फिर ठंडा होने पर सड़क पर फैक दे ।  आप ये किसी भी दिन कर सकते हो और आराम न मिले तो दुबारा भी कर सकते हो ।

उपाय दो -

घर में शांति और सुख के लिए  व व्यापार बाधा को दूर करने का अचूक उपाय :-

यदि व्यपार या घर में नजर लग गयी है और चलता हुआ व्यापार बंद हो गया है तो ये उपाय करें आपको लाभ मिलेगा -

अमावस्या या शनिवार की सुबह एक नीम्बू ले व उसके चार टुकड़े कर दे , थोड़ी सी पीली सरसों, 21 काली मिर्च व 7 लोंग लेकर दूकान या फैक्ट्री या घर में रख दे ( कही पर भी ) फिर संध्या के समय सभी चीज़ो को काले कपडे में बाँध कर के सूखे कुँए में फैंक आए । भूल से भी उस कुएं में न फैके जिस में पानी हो और लोग उस पानी को काम में लेते हो ।  याद रहे कुॅआ सुखा हो । आप इसको हर महीने करें । आपके व्यपार पर लगी नजर और  किया-कराया और सभी तरह की बाधा दूर होगी और आपका व्यापार चलने लगेगा । 


उपाय तीन -

प्रेत बाधा के लिए :-  शनिवार को  पीपल के पांच अखंडित स्वच्छ पत्ते लेकर उन पर पांच सुपारी, दो लौंग रख दे तथा गंगाजल में चंदन घिसकर पत्तों पर (रामदूताय हनुमान) दो-दो बार लिख दें। अब उनके सामने धूप-दीप और अगरबत्ती जला दें। इसके बाद बाधाग्रस्त व्यक्ति ( बाधाग्रस्त  व्यक्ति का पूरा नाम और व्यक्ति की माता जी का नाम बोले ) को छोड़ देने की प्रार्थना करें। फिर सभी पत्तो को समेट कर के पीपल के पेड़ के  नीचे रख कर आ जाय । ऐसा हर शनिवार करें कुछ माह के लिए ।


टोटके जो सच में काम करते है | Lal Kitab




टोटके ही टोटके 


1).  अपनी पत्नी को वापिस लाने का उपाय - टोटका 

आपकी वाइफ बेवफा है चरित्रहीन है या किसी और के साथ भाग गयी है या उसका किसी और के साथ अफेयर है या फिर वो नाराज़ हो कर अपने मायके जा कर बैठ गयी है और मुकदमा करने की धमकी दे रही है और घर आने को तैयार नहीं है तो आप लाल किताब का ये सरल उपाय कर सकते है ।

apani patni ko wapis lane ka upay -totka

सबसे पहले उपाय में पत्नी का कोई भी कपडा ले ले वो धोया हुआ न हो और उसका फ्लैग यानी झंडा बना कर के छत्त पर साउथ की तरफ की दिवार पर लगा दे ऐसा करने से आपकी पत्नी जल्दी घर लौट आएगी।

दूसरा सरल उपाय भोजपत्र के टुकड़े पर लाल पेन से पत्नी का नाम लिख देना और उसको शहद की शीशी में डुबो देना।  मंगलवार या शनिवार को करें तो ज्यादा लाभ होगा।

तीसरा उपाय इसके लिए आपको अपनी पत्नी के बाल चाहिए होंगे।  अगर आपके पास अपने पत्नी के बाल है या आप  हासिल कर सकते है तो आप उनको शनिवार या मंगलवार के दिन अपने घर के बाहर जला देना और जलाते वक्त प्रार्थना करनी है की वो वापिस घर आ जाय।

चौथा उपाय बेहद सरल है आपको इसके लिए अपने इष्ट-देवता से प्रार्थना करनी है और वहा जा कर फैरी दे कर आनी है कई बार इष्ट देवता ही बन्दे का काम कर देते है।

पांचवा उपाय इसके लिए आपको किसी भी दिन पीपल के पेड़ के दो पत्ते तोड़ने है शनिवार या मंगलवार करें तो ज्यादा अच्छा है।  दोनों पत्तो पर पत्नी का नाम लाल पेन से लिख दे और एक पत्ते  को घर की छत्त पर भारी पत्थर के नीचे दबा दे और दूसरे पत्ते को उस पीपल के पेड़ के नीचे गड्डा खोद कर के गाड़ दे और फिर रोज़ाना उस पीपल के पेड़ को एक वक्त पानी सींचे।  कुछ दिनों तक पानी उस पीपल के पेड़  में डाले और प्रार्थना कर ले की आपकी औरत वापिस घर लौट कर आ जाय और प्रेम पूर्वक रहे।


2). Exam Mein Pass Hona | Lal Kitab



lal kitab totke exam ke liye

लाल किताब के अजीबो-गरीब टोटके 

बार बार एग्जाम (exam) देने पर भी सफलता नहीं मिल रही है और पास होने की बजाय फ़ैल होते जा रहे हो और पैसा और समय दोनों बर्बाद हो रहा है तो एक बार बेहद सरल और अचूल नुस्खा लाल किताब का कर के देखें आपको सफलता जरूर मिलेगी।


ये उपाय आप इंटरव्यू (Interview) में सफलता प्राप्त करने के लिए भी कर सकते है।

एग्जाम में पास होने के लिए लाल किताब का टोटका 

जब आप इंटरव्यू या एग्जाम या किसी भी महत्वपूर्ण कार्य को करने जाय तो एक नीम्बू ले और उस नीम्बू के ऊपर चार लॉन्ग गाड़ दे और 21 बार इस मंतर को बोले "ओम श्री हनुमंते नमः " और फिर नीम्बू पर फूक मार दे और फिर  उसको अपने पर्स या बेग में रख ले और साथ ले कर चले जाय और फिर इंटरव्यू या एग्जाम दे कर लौटते वक्त उस नीम्बू को चौराहे या सड़क पर फैक दे घर पर न ले कर आए । भगवान ने चाहा तो आपको जरूर सफलता मिलेगी ।  


आप इस उपाय को सच्चे मन से करें आपको जरूर सफलता मिलेगी।


3). लाल किताब और प्राचीन उपायों से कष्ट निवारण 



लाल किताब और प्राचीन उपायों से कष्ट निवारण

प्राचीन ज्योतिष में ग्रहों को तथा बीमारी को शन्न करने के लिये जड़ी बूटियों का प्रयोग किया गया है। वैसे तो कुछ चीजें ऐसी हैं जिसके प्रयोग से बीमारी समाप्त होती हैं। जैसे अगर बिल्वपत्र और काली मिर्च दोनों पीसकर सुबह शाम लगातार दो महीना छानकर पीने से मधुमेह (शुगर) की बीमारी ठीक हो सकती हैं। अगर गरमी के मौसम में पीया जाये तो गरमी नहीं लगेगी।

लाल किताब में लिखा है कि अगर किसी का बुध खराब है तो वह फिटकरी से दाँत साफ करे। फिटकरी भी बुध हैं और दाँत भी बुध है इसलिए बुध को प्रदान करता है। पीपल में बहुत ऑक्सीजन होती हैं बाकी पेड़ प्राप्त को कार्बनडाइऑक्साइड छोड़ते हैं लेकिन पीपल २४ घण्टे ऑक्सीजन छोड़ता रहता है। अगर किसी को टोबी हो या ठिल की बीमारी हो और वह जातक ३.४ पीपल के के नरम नरम पत्ते खाया करें या पीपल की की नरम-नरम टहनी खाया करे तो उसके अन्टर बीमारी को रोकने की प्रतिरोधक शक्ति पैदा हो सकती है और दिल तथा टीबी दोनों बीमारियौं ठीक होने की सम्भावना हो सकती हैं।

इसके साथ और भी कोई बीमारी होती है तो वह भी ठीक हो जाती है। पीपल को लाल किताब ने ब्रहमाजी माना है जो जन्म देने के स्वामी हैं। अगर किसी जातक के सन्तान नहीं होती वह भी भगवान का नाम लेकर रोज खाना खाया करे तो अवश्य सन्तान होगी। इसलिए पीपल को इतना महत्व दिया गया है। लाल किताब में मंगल और बुध दोनों को एक जगह होने से खराब माना है गंगा जल का प्रयोग करें तो ठोनों ग्रह शान्त रहेंगे। बरगद का पेड़ जिसे पंजाब में बरोटा कहा जाता है उस पर जल दूध चढ़ाकर उसकी मिट्टी से माथे पर तिलक लगाया जाये तो विशेषकर सूर्य 3भीर चन्द्रमा अच्छT फल ठेयो इसके पीछे यह राज है कि बरगद के पेड़ के पास जाकर उसके पत्ते तोड़ने से जो दूध निकलता है यदि, उसे पत्माशों में लगाकर खा लिया जाये तो पताशा बहुत ताकतवर होता है और सब प्रकार की बीमारी रोकने की उसमें शक्ति होती है।

कुछ लोग इन से छोटी-छोटी नरम दाटु खाकर भी पानी पीते हैं। उसकी दवाई भी बनायी जाती है। इसलिए इसका महत्व लाल किताब ने दिया हैं। जिसकी कुण्डली में बुध शनि एक साथ बैठे हैं वह आम का पेड़ धर्मस्थान में लगाये यह काम परोपकार का है। वृक्ष से छाया, लाकडी और ऑक्सीजन प्राप्त होती है तथा बरसात भी होने में वृक्ष सहायक होता है।

धर्म स्थान में जो भी जायेगा उसे खाने को मिलेगा। हर पूर्णमासी/ संक्रान्ति या शुभ ठिन पर एक पीला सब्बानी वाला पेठा (कडू) लंगर में दिया जाये तो घर में बीमारी परेशानी से बचाव होगा। लंगर में दिया गया दान सभी लोग खा सकते हैं जिसमें सेवा करने से ग्रह शान्त होते हैं कयोकि इस संसार में जितने-जीवन जन्तु हैं उन सबको भगवान ने बनाया है और भगवान के बनाये प्राणी की सेवा भगवान की भरकर शनिवार के ठिन पीपल या बरगद के पेड़ के नीचे या चींटियों की जगह पर मुँह खुला रखकर रखें, जिससे चींटियाँ खा सके| यह बड़ा लंगर है। यन का काम करेगा|

जब भी घर बनवायें 3भपने घर में कच्ची जमीन जरूर रखें जिससे शुक्र का प्रभाव ठीक रहेगा। अगर घर का पूरा स्थान पक्का हो तो अपने घर में गमला रखें, उसमें तुलसी भी लग सकती है। रोज़ नहा कर
जल चढ़ाएं तथा २.३ पत्ने रोज़ रवाया करें।

केतु यदि बारहवें घर में हो तो लाल किताब में लिखा है कि जानक अपना अँगूठा मीठे दूध में डालकर चूसा करे तो केतु ठीक फल देगा। जातक का अँगूठा मनुष्य के दिमाग और तन्दुरुस्ती से सम्बन्धित है। जितना बड़ा अँगूठा होगा उतना अच्छा दिमाग होगा। अँगूठा चूसने से अँगूठा थोड़ा जरूर बढ़ेगा और जितना भी बढ़ता जायेगा उतना फल कुछ न कुछ जरूर ठेगा। जब किसी बच्चे को अपनी किस्मत अच्छी बनानी होती है तब वह लगातार १५,२० साल मेहनत करके पढ़ता है फिर कामयाब होता हैं। उसी तरह से किस्मत को बदलने
के लिये बहुत त्याग-तपस्या एवं योग करना पड़ता है।

अगर किसी को गुर्ट की बीमारी हो जाती है तब जातक अपने दोनों पैर के अँगूठे में मोटी से मोटी चाँदी की अँगूठी पहने। वहाँ पर चाँदी पहनने से गुर्द की बीमारी ठीक होगी। अब अगर देखा जाये तो जातक का पैर केतु है और चन्द्रमा चाँदी। चन्द्रमा से केतु का बुरा प्रभाव ठीक होता है। पैर के तथा हाथ के अँगूठे में जीवन शक्ति होती है और उसमें चाँदी धारण करने से केतु के बुरे प्रभाव कम हो जाते हैं।

पहले की औरतों के पैर के जोड़ों में दर्द इस कारण नहीं होता था क्योंकि वे अपने पैरों में
शान्ति बनी रहती है।

चमत्कारी उपाय कुछ लोग अपनी कुण्डली या हाथ दिखाने के बाद यह जानना चाहते हैं कि उनके जीवन में जो कष्ट या परेशानी लिखी है, वह कष्ट या परेशानी कैसे दूर हों। इसके लिए उप्योतिष शास्त्र में जप, तप, व्रत, हवन, यज्ञ लिखा है। कुछ लोग करते हैं लेकिन उसके बाद भी पूरा लाभ नहीं मिल पाता है और कई जगह पर लाभ गंगा जी नहाने से या पूजा पाठ करने से नहीं होता है। कर्म काण्ड करवाये जायें जिससे अधिक से अधिक लाभ हो सके। एक समय था कि गंगा जी में नहाने से किस्मत बदल जाती थी | सत्यनारायण भगवान का पाठ करने और हवा यान करवाने से, दान करने से क्रिस्मत बदलती थी और लाभ होता था। लेकिन अब उस रहस्य को ढूंढना होगा कि कौन से कारण हैं जिनके कारण यह उपाय अपना फ़ल नहीं दिखा पाते हैं। एक दुकानदार हम पिछले कई वर्षों से जानते है|

वह सदा अपने ग्राहक भी उसकी दुकान पर जाता है, वह ठगा जाता है। अब अगर वह पूजा पाठ कर भी लेता है तो क्या भगवान यह नहीं जानते हैं कि वह आदमी सबको ठगता है। अगर कोई किसी से अधिक पैसा लेकर सामान खराब ठेता है तो धीरे-धीरे सभी लोगों को यह पता चल जाता है और कोई कहता भी हैं कि मुझे उनकी दुकान से सामान खरीदने जाना है तो लोग मना कर देते हैं कि यह इनसान ठग है। धीरे-धीरे वह आदमी बदनाम हो जाता है और उसकी दुकान पर लोग आना-जाना बन्द कर देते हैं वह पूरा का पूरा घाटा खाना शुरू कर देता है।

ऐसे व्यक्ति को चाहिए कि चाहे वह हवन यज्न दान दक्षिणा भी न करें लेकिन जो भी व्यक्ति उसकी दुकान पर आये उससे सही पैसा लेकर सही सामान टे तो ग्राहक स्वयं वापस आयेगा और दो चार अन्य व्यक्तियों को और साथ लेकर आयेगा। अगर सही सामान बेच कर सही पैसा लेखागा तो उसके दवारा किया गया दान पुण्य हवन यज्ञ्न भी लाभदायकः होगा। अन्यथा दान पुण्य से कुछ प्रतशित फ़ायदा हो सकता है लेकिन पूरा लाभ होना कठिन होगा। कुछ लोग मजदूरों से काम नहीं देते हैं या मजदूरी काट लेते हैं। फ़िर पण्डित के पास जाते हैं या तान्त्रिक के पास जाते हैं, उपाय करवाते हैं। उपाय करने से उनके मन की तसल्ली हो जाती है, लेकिन ग्रह तो तभी ठीक होंगे जब एक मजदूर से काम करवा कर उसकी इज्जत व सम्मान के साथ उसकी मजदूरी दी जाये। कुछ लोग पूजा पाठ बहुत करते हैं। इन्सानियत से तो उन्हें प्यार नहीं होता। इनसान को जन्म देने वाला इनसान है जिसकी गोद में जन्म लेकर बढ़ा पला हैं, लेकिन फिर भी उनसे ईष्या करता है तो पाठ करने के कुछ प्रतशित लाभ तो होगा लेकिन पूरा लाभ प्राप्त नहीं होगा। जो मांस, शराब, अण्डा खाते-पीते हैं उनकी बुद्धि खराब हो जाती है और इसके लिए अधिक पैसे की जरूरत पड़ती है और अधिक पैसे के लिये इनसान गलत रास्ता अपनाता है या अपने परिवार का पालन न करके सिर्फ अपने खाने-पीने पर अधिक धयान देता है। जो इनसान अपने परिवार का पालन नहीं कर सकता है, वह हवळन यज्ञ करके बहुत कम लाभ प्राप्त होने पर मेहनत करके अपने परिवार का पालन करते हैं तो जो भी धार्मिक कार्य करेंगे भगवान की कृपा उनको अवश्य प्राप्त होगी। कुछ लोग अपने आई, बहळन, रिश्तेदार का हिस्सा हड़प कर लेते हैं।

बाद में पणेिंडलों या सन्नों के पास घूमते हैं। अगर ऐसे लोग गंगाजी नहा भी लेते हैं तब गंगा माता भी जानती हैं कि वह गरीबों का हिस्सा मार कर आया है। गंगा जी नहाने से लाभ बहुत ही कम होगा और फ़िर बोलेंगे कि हमने सब कुछ उपाय कर लिया लेकिन लाभ नहीं हुआ। दान पुण्य के दवारा उनका पालन हो सकता है लेकिन जब जातक ने इतना बड़ा अपराध किया है तो जरूरी नहीं कि दान पुण्य करने से वह मुकदमे से छूट जाये। हाँ, दान पुण्य करने से उसके परिवार को कुछ न कुछ राहत अवश्य मिलेगी। किन्तु अधिक नहीं।

कुछ लोग कामकाज या मेहनत तो करना नहीं चाहते सिर्फ उपायों के दवारा अपनी किस्मत बदलना चाहते हैं और जब उपाय करने से लाभ नहीं मिलता तब कहते हैं कि उपाय में कोई शक्ति नहीं हैं या ज्योतिष गलत है। कुछ लोग दान पुण्य करते हैं लेकिन उधार लेकर करते हैं और जिसका ले लिया उसका वापस नहीं किया किन्तु वह लोया पैसा वापस नहीं दिया। कुछ करते हैं। लेकिन जिसका भी पैसा
करते हैं, ऐसे लोग जितना मज़ों सुधारेंगे लाभ बहुत कम होगा।

कुछ लोग कहते हैं कि वे किसी को दान-दक्षिणा नहीं लेते हैं। न ही किसी से लेकर कुछ खाते हैं। अगर उनको कोई कुछ खाने-पीने को टेला है तब भी नहीं खाने-पीने हैं। लेकिन अगर किसी का पैसा ले लेंगे या सामान ले लेंगे, उसे वापस नहीं करेंगे। कुछ लोग जो ठान ठक्षेिपणा करेंटो उस मकान पर अपना नाम लिखवा देते हैं। उनके अन्दर नहीं हैं। भगवान कहते है कि में उसको पसन्द करता हूँ जिसका मन स्वच्छ और साफ हैं। रामायण में तुलसीदास जी ने लिखा है कि भगवान राम ने शबरी को अकिल का उपदेश देते हुए कहा था कि: सप्तम सो मोहि भय जग देखे। मो सो अधिक सन्त कर लेखे। अथत इस संसार में जितने जीव जन्तु हैं उन सब में मेरी हो ज्योति जलती है। और जिस दिन में मनुष्य के शरीर से अपनी उयोनि खींच लेना हूँ उस समय इनसान मर जाता है। इसलिए अगर कोई इनसान के साथ धोखा-धड़ी, ठगी करता है तो वह उस इनोसान से न करके मेरे से धोखा करता है। श्रीमद भगवद गीता में कृष्णजी ने बताया कि इस संसार में सभी प्राणियों में आत्मा के रूप में में ही कल्याण की भावना रखते हैं, उनसे भगवान खुश होते हैं। गुरु नानक देव जी महाराज ने गरीबों की मदद के लिए दिया। उन्होंने कोई जात-पात नहीं देखी, जो भी गरीब व दुखी थे
कहीं भी धर्मस्थान में जाने की अधिक आवश्यकता नहीं है।
नाः---म-न-यान- रचने से ग्रहों का उपाय करने से वस्तु की शान्ति करवाने से वही लोग पूरा लाभ उठा सकते हैं जो अपने दोन-ईमान पर खडे हो हक व हलाल की कमाई खाते हैं। जन-जन के कल्याण की भावना रखते हैं और उसकी हवन यज्न करवाने से लाभ होगा। जो अपने जाति धर्म के नाम 3भन्टर परमात्मा का अंश ठेखती हैं। राष्ट्रपति चाहते हैं कि उनके ग्रह शान्त हों तो वे अपने देश की जनता को
अपनी सन्तान समझें और उनके लिए होगा। अगर कोई मजदूर जिसको रोज के ८०,९० रुपये मिलते हैं, एक
अन्धो को रोटी खिला टेना है त्नो भी उसको उतना ही लाभ होगा जितळना हवन यज्ञ करने से होता है क्योंकि उसका सामथ्र्य ही बहुत कम है। कुछ लोग अपने आस-पास के लोगों के, रिश्तेदारों दवारा टी गयी चीजों का उपयोग नहीं करते कि कहीं कुछ करके अर्थात भूत-प्रेत या जादू-टोना करके तो नहीं दे रहे हैं। भूत-प्रेत या
दैवीय शक्ति किसी के हाथ की कठपुतली नहीं होती जिस प्रकार अच्छी विदया प्राप्त करने के त्रिष्ये १०,१५१ साली पठ्ठना पडता हे उसी प्रकार भगवान को खुश करने के लिये जन-जन का कल्याणा तथा त्याग-तपस्या करनी होती है तब भगवान की कृपा प्राप्त होती है। कहने का मतलब है कि इस संसार में वही महान हैं जिसके पास कोई शक्ति है और जब व्यक्ति ने इतना त्न्या-त्नप-या करके शक्ति प्राप्त की है तो वह उसे अच्छे काम में लगायेगा जिससे गरीबी दूर हो, बीमारी दूर हो ना कि अपने जीवन की मेहनत किसी को दु:ख, कुछ पण्डित लोग भी लोगों को अमित कर देते हैं कि आपके घर पर किसी ने कुछ कर दिया है।

यह बनाने से लोग पण्डित से उपाय करवायेंगे और उनकी जेब में भी कुछ जायेगा ऐसे पण्डित को भी भगवान से डरना चाहिए कि जातक को सही रास्ते पर लगायें जिससे वह भगवान खुश होंगे। किसी को गलत उपाय बताने या अमित्न करने से बताने वाले के खुद के ग्रह खराब हो जायेंगे और जातक कष्ट में आ जायेगा। आस पड़ोस, परिवार में झगड़ा-लड़ाई न करके प्यार मुहब्बत के साथ रहने से भगवान की कृपा होती है। बेईमानी, पाखण्ड का कारक राहु है और अब जातक जितना ये सब करता है तब राहु खराब होकर जातक को नष्ट कर देते हैं। आम जनता शनि एवं पहले उठे और यह देखें कि उठने समय दायें नाक से ३वास आ रहा है अथवा बायें नाक से। अठार दायें नाक से आा रहा है तब भगवान से प्रार्थना करें कि 'हे भगवान आज मेरी आयु में से एक दिन समाप्त हो रहा है इसलिए मेरा आज का टिन सुख शान्ति से बीते और यह आपको कृपा होगी, क्योकि इनसान लो कुछ नहीं कर सकता है, नौ महीने रहता है जब उसकी हिम्मत कहाँ होती हैं।

जब बीमार हो जाता है तब वह करवट भी नहीं पलट सकता है और न अन्न खा सकता है। गरमी के मौसम में पंखा कूलर लगाकर ठण्डा करना चाहता है। एक कमरा कठिनाई से ठण्डा होता है लेकिन अगर भगवान की कृपा होती है तो १० मिनट में वर्षां होकर ठण्डी हवा चलने लगती हैं और सब जगह ठण्डापन हो जाता है। इसलिए गुरु नानक देव जी महाराज ने लिखा है कि भगवान् की मर्ज़ी के बिना पत्ता भी नहीं हिलता है। हे भगवान, हम आपकी सन्तान हैं। मेरे ऊपर अपनी कृपा बनाये रखें क्योंकि जो कुछ मेरे पास है वह आपका दिया हुआ है। और मेरे हाथ से किसी का बुरा न हो और इतनी शक्ति दें, जिससे में अपनी मेहनत से कमाकर अपने परिवार का पालन कर सकूं।' फिर जिस नाक से ३वास आ रहा है वही हाथ अपने सिर पर फेर लें और वही पैर जमीन पर पहले रखें। फिर अपना घर का सारा काम करके तुलसी को जल चढ़ाकर ३,४ पत्ते तुलसी के खाकर जल पीयें। अपने घर में तुलसी का पौधा अवश्य लगायें क्योंकि तुलसी लक्ष्मी माता की बहन है और तुलसी की हवा घर में जहाँ पर जाती हैं, पवित्र हो जाता है। और सब बीमारी दूर हो जाती है। घर में तुलसी ऐसी जगह लगानी चाहिए जहीं उसे अठर-सन्मान प्राप्त हो।

नहाने के बाद में सूर्य भगवान तथा शंकर भगवान को जल चढाये तथा रूद्राक्ष का एक ठाना उाले में अवश्य धारण करें और रोज शंकर भगवान का जप करें कि हे भगवान आप दवारा दिया यह रहें | किमी गरीब कन्या की मदद करने से सारे कार्य होती हैं |


5). लाल किताब के उपाय कब करें , कैसे करें, क्यों करें और कौन-कौन कर सकता है ? 

लाल किताब के उपायों को अपनाने से पूर्व विशेष सावधानी बर्ते 


लाल किताब में दर्शाये गये उपाय/टोटके किसी भी समय आरम्भ किये जा सकते हैं परन्तु एक बार आरम्भ करने के पश्चात् 43 दिनों तक निरन्तर करते रहें।

यदि इन 43 दिनों के भीतर किसी भी प्रकार का व्यवधान उत्पन्न हो जाये या भूलवश आपसे एकाध दिन की गड़बड़ी हो फिर परिस्थिति वश आप निरन्तर न कर पाये हों कुछ दिन रूककर पुनः 43 दिनों एक निरंतर प्रयोग करें ।

जब तक 43 दिनों तक निरंतर उपाय/टोटका नहीं किया जायगा तब तक उसका पूर्ण फल मिलना अनिश्चित है ।

यदि उपाय करने से पूर्व दूध में धोकर चावल पास में रख लिया जाय तो उपायों का कुछ प्रतिशत फल अवश्य मिलता है  ।

लाल किताब के उपाय/टोटके दिन के समय (सूर्य की साक्षी में ही करें) - सूर्योदय से पूर्व के एवं सूर्योदय पश्चात् किये गये उपायों का कोई फल न मिल पायेगा लेकिन हानि होने की संभावना हो सकती है।

लाल किताब में कई उपाय रात्रि के समय करने को बतलाया है उन्हें रात्रि के समय करना ही उचित होगा ।

 लाल किताब के टोटके पीड़ित व्यक्ति को स्वयं ही करने चाहिए लेकिन यदि वह असहाय है और स्वयं नहीं कर सकता है उस स्थिति में हाथ का स्पर्श करवा कर किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा उपाय किये जाने चाहिए ।


Lal Kitab Ke Powerful Upay - Astrology

lal kitab ke asardar upay

Bhartiya jyotish shastra mein lal kitab ka visesh isthan hai.  Lalkitab mein sabhi samasyo ke liye powerful totke batay gayein hai.

Aap sabhi ko malum hai ki lal kitab mein sabhi samasayso ke powerful tone-totke aur upay diye hue hai.

Sabhi graho aur rashiyo ke upay bhi laal kitab mein diye gaye hai bus aapko sharddha se un totko ko karna hai.


1).  Aapke ghar mein bimari lagi ho-

Bahut se logo ke ghar mein bimari lagi hoti matlab ghar bimariyo ka ghar hota hai. Ek ghar ka member theek hota hai to doosara bimar ho jata hai matlab sari ghar ki kamai (income/salary) dawai aur tests karwane mein hi chali jaati hai aur phir bhi bimari jaane ka naam nahi leti hai.

Aise mein aap ye lal kitab ka tested aur powerful totka kar ke dekhiye aapko labh hoga-

Apne ghar ke bahar main gate ke darwaze ke bahar jo sadak hai us sadak ke aur main gate ke beech mein se ek chutki mitti utta lijiye aur ab is mitti mein thodi si laal mirch pisi hui , raai aur namak kisi katori mein daal kar mila dijiye. Ab inko us vykti jisko najar lagi hui hai ya bimar hai (ilaaj nahi lag raha hai) uske upar se 7 baar clockwise ghuma lijiye aur phir garam tawa (jis par roti sekte hai) par daal dijiye aur thanda hone ke baad usko sadak par daal dijiye. 

Aisa karne par bimar vykti ko turant labh milega aur fast recovery karega.


2). Kaam dhande ya dukaan par buri najar lagi ho-

Bahut logo ki sikayat hoti hai ki kaam dhanda sab band ho gaya hai aur koi income nahi hai aur bus ghata ho raha hai.

Waise to kisi acche jyotishi se mil kar apni kundli dikway ki aapka samay kaisa chal raha hai aur us ke anusaar aapko upay karne chahiye.

Vyappar mein nuksaan na ho uske liye aap apni tijori mein ek dibbi mein "ek chandi ka sikka jis par laxmi ji ho" aur "sindoor" aur "ek haldi ki gaanth" aur "ek akhandit supari" aur "kuch daane peeli sarson" aur "paan ka patta" le le aur in sabhi ko ek laal kapde mein bandh kar ke apni tijori mein rakh le.  Aapko kuch hi dino mein vyapaar mein labh najar aayga.


3).  Dushman se chutkara pane ke totke-

Aajkal sabhi log ristedar aur dushman se paresan hai.  Adhiktar ristedar hi dushman hote hai ya phir office ya naukri mein boss ya koi sathi hi dushmani nikalta hai.  Yadi aapko koi vykti bewajah paresan kar raha hai ya phir aapko nuksan pahuchana chahata hai to aap ye sateek upay kar ke labh prapt kar sakte hai.

Aap apne dushman ka naam ek peepal ke patte par laal pen se likh de aur us peepal ke patte ko ghar ki chatt par ulta rakh de aur us par bhari patthar rakh de.  Aisa karne par aapka dushman aapke control mein aa jaayga aur aapko nuksan nahi pahochayga. 


4).  Ghar wapis bulane ke liye totke-

 Yadi aapka koi parichit ya saga-sambhandhi ghar se bhaag gaya hai matlab naraz ho kar chala gaya hai to aap ye upay kar sakte hai.

Aapko us insaan ka pahana hua kapda lena hai jaise shirt ya rumaal ya aur koi kapda aur phir aapko us kapde se jhanda bana kar ghar ki chatt par south ki diwar par laga dena hai.  Aisa karne par wah vykti turant wapis ghar aa jaayga ya aapko uski khabhar (news) mil jaaygi ki wah kaha par hai.


5). Pati ka pyar pane ka totka/mantra-

Aapke pati aapse naraz rahte hai aur aapki baat nahi sunate hai aur aapko ghar kharch chalane ke liye paise nahi dete hai aur sex mein bhi jyada roochi nahi lete hai to aap ye upay karein aapke pati aapko pyar karne lagengey aur aapki baat manenge.

Jo perfume aap lagati ho us perfume ki bottle par aap apne pati ka naam 21 baar bol kar ek baar fook maar de aur phir us perfume ko daily apne pati ke shirt par spray kar diya karein.

Periods ke doran aap pad par apne husband ka naam lipstick ya laal pen se likh kar pahan le aur phir doosare din usko jala de aur uski raakh sadak par faik de.
Beta Maa-Baap Ko Marta Ho To Kya Karein | Jyotish Totka


jyotish upay bete aur bahu ko sudharane ke liye


Kalyugi Bete Aur Bahu Ko Sudharane Ke Totke

Aaj kalyug mein kuch bhi sambhav hai.  Humlog akhbar aur newspaper mein padte hai ki kalyugi bete ne apne budhey maa-baap ko ghar se nikal diya. 

Bete ki patni yani putravadhu ke julm ki kahani koi nayi nahi hai.  Aaj kal social media mein bahu ke apni saas ke sath maar-peeth ke video dekhne ko aamtor par milte hai. Aisa isliye ho raha hai kyuki aaj koi bhi vykti apni jimmedari nibhana nahi chahata hai.  

Sirf paisa hi sabkuch ho gaya hai.  Had to tab ho jaati hai jab bacche apne maa-baap par hath utthana shuru kar dete hai aur bahut baar to ye bhi dekhne ko milta hai ki wo unko jaan se bhi maar dete hai yani apne maa-baap ka murder tak kar dete hai.  

Ye sab paise or property vivad ke chalte hota hai.  Bete ki patni chahati hai ki uska pati uska gulaam ban jaay aur apne maa-baap se door ho jaay aur property par kabja kar le aur maa-baap ko sadak par ya vridhaasaram mein daal de.  

Bahut se gharo ki dukhbhari kahani is tarah hoti hai ki eklotta beta hota hai jo kamata nahi hai ya phir shrabhi hota hai aur ya phir love marriage kar leta hai aur ek bahan hoti hai jo ki manshik tor par kamzor hoti hai yani (mandbudhi) hoti hai ya phir koi bhai hota hai jo is awastha mein hota hai ki koi kaam dhandha nahi kar sakta hai aajeevan maa-baap par hi dependent hota hai ab aise parisththi mein maa-baap chahate hai  ki property se uska gujara chalta rahein jo kriya-bhada aata hai lekin kalyugi bete aur bahu ko sirf property dikhati hai aur wo kisi bhi keemat par maa-baap or mansik roop par apne kamzor bhai ya bahan ko ghar se nikal kar property hatyana chahate hai.

Ab agar aap aise situation se gujar rahein ho to aapko yaha par ek upay diya jaa raha hai aap agar wo upay karte hai to aapko labh hoga.

Bete Aur Bahu Ko Sudharane Ke Liye Upay

1). Har shaniwar ke din 5 long le le aur un par bete aur bahu ka naam 21 baar bol kar ek baar fook maar de aur phir unko aag mein jala de aur rakh ko road par faik de.  Aisa kuch mahine lagatar karein.

2). Ek bhojpatra ka tukda le aur us pe laal pen se dono (bete aur uski patni) ka naam likh de aur usko kisi shahad ki bottle mein dubbo kar kahi par rakh de jaha kisi ki najar na padein. Ye aap kisi bhi din kar sakte ho.

3).  Yadi bete aur bete ki patni ke kuch baal mil jaay to unko rakh lijiye aur shaniwar ke din unko ghar ke bahar jala dijiye aur sadak par faik dijiye.

4). Aap rojana "aditiya hridyam stotram" ka path karein us se ghar mein shani banegi.

5). Somvar ko kaccha doodh shivling par jaroor chaday.

Ye uprokt upay aap kar ke dekhein aapko nischit hi labh hoga.  Yaha par aur bhi chamatkari upay diye hue hai aap unko bhi pad sakte hai aur labh utta sakte hai-

Chamatkari Upay Turant Prabhavshali

जीवन रेखा इन हैण्ड, सपने में नाग देखना, सपने मे रिश्तेदार देखना, सपनो का फल, समुद्र शास्त्र pdf, सूर्य रेखा के प्रकार, हस्त रेखा सरकारी नौकरी, Hath me til', 2 marriage lines on left hand, Ache bure spne ka arth, Ambani palm, Apne pyar ko bas me karne ka upay, Astha kihastrekha, Bhojpatra ke totke in hindi, Bill gates palm images



Nitin Kumar Palmist 

ONLINE PALMISTRY READING




SEND ME YOUR PALM IMAGES FOR DETAILED AND PERSONALIZED
PALM READING




Question: I want to get palm reading done by you so let me know how to contact you?


Answer: Contact me at Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in.

Question: I want to know what includes in Palm reading report?

Answer: You will get detailed palm reading report covering all aspects of life. Past, current and future predictions. Your palm lines and signs, nature, health, career, period, financial, marriage, children, travel, education, suitable gemstone, remedies and answer of your specific questions. It is up to 4-5 pages.



Question: When I will receive my palm reading report?

Answer: You will get your full detailed palm reading report in 9-10 days to your email ID after receiving the fees for palm reading report.



Question: How you will send me my palm reading report?

Answer: You will receive your palm reading report by e-mail in your e-mail inbox.



Question: Can you also suggest remedies?

Answer: Yes, remedies and solution of problems are also included in this reading.


Question: Can you also suggest gemstone?

Answer: Yes, gemstone recommendation is also included in this reading.


Question: How to capture palm images?

Answer: Capture your palm images by your mobile camera
(Take image from iphone or from any android phone) or you can also use scanner.


Question: Give me sample of palm images so I get an idea how to capture palm images?

Answer: You need to capture full images of both palms (Right and left hand), close-up of both palms, and side views of both palms. See images below.






Question: What other information I need to send with palm images?

Answer: You need to mention the below things with your palm images:-

  • Your Gender: Male/Female

  • Your Age:

  • Your Location:

  • Your Questions:

Question: How much the detailed palm reading costs?

Answer: Cost of palm reading:


  • India: Rs. 600/-

  • Outside Of India: 20 USD
( For instant palm reading in 24 hours you need to pay extra Rs. 500 or 15 USD )
(India: 600 + 500 = Rs. 1100/-)
(Outside Of India: 20 + 15 = 35 USD)

Question: How you will confirm that I have made payment?


Answer: You need to provide me some proof of the payment made like:

  • UTR/Reference number of transaction.

  • Screenshot of payment.

  • Receipt/slip photo of payment.

Question: I am living outside of India so what are the options for me to pay you?

Answer: Payment options for International Clients:

International clients (those who are living outside of India) need to pay me 20 USD via PayPal or Western Union Money Transfer.

  • PayPal (PayPal ID : nitinkumar_palmist@yahoo.in)
    ( Please select "goods or services" instead of "personal" )

  • Western Union: Contact me for details.

Question: I am living in India so what are the options for me to pay you?

Answer: Payment options for Indian Clients:

  • Indian client needs to pay me 600/- Rupees in my SBI Bank via netbanking or direct cash deposit.

  • SBI Bank: (State Bank of India)

Nitin Kumar Singhal
A/c No.: 61246625123
IFSC CODE: SBIN0031199
Branch: Industrial Estate

City: Jodhpur, Rajasthan.
  • ICICI BANK:
(Contact For Details)

Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in






Client's Feedback - August 2018



If you don’t have your real date of birth then palmistry is there to help you for future life predictions.  Our palm lines, signs, mounts and shapes which are very useful in predicting the person’s life. We can predict your future from the lines and signs of your both palms. We can predict your future by studying your palm lines and signs. There is no need to send us your date of birth , time of birth , place of birth etc . Palm told the personality ,future ups and downs thus a experienced palmist can guide you to deal with upcoming challenges with vedic remedies.