Monday, February 5, 2018

हस्त रेखा से रोजगार चयन | Select Job Through Palmistry

हस्त रेखा शास्त्र द्वारा भी रोजगार चयन में सहायता प्राप्त हो जाती है। किन्तु सर्वप्रथम यह जान लेना आवश्यक है कि आप किस क्षेत्र में सफल हो सकते हैं।




हस्त रेखा शास्त्र द्वारा भी रोजगार चयन में सहायता प्राप्त हो जाती है। किन्तु सर्वप्रथम यह जान लेना आवश्यक है कि आप किस क्षेत्र में सफल हो सकते हैं। 

यदि अंगुलियों के पहले पोरे सबल एवं लम्बे हैं तो आप में सीखने की ललक अच्छी है। यानी आप उच्चा शिक्षा ग्रहण करने में सफल हो जाएंगे। यदि अगुंलियों के दूसरे पोरे लम्बे और सबल हैं तो आप प्रैक्ट्रिकल फील्ड में चल जाएंगे। अर्थात् आप के अंदर देखकर सीखने की क्षमता है। इसके विपरीत यदि तीसरा पोरा ज्यादा सबल है तो आपका उत्पादन, व्यापार या व्यवसाय के क्षेत्र में जाना ज्यादा उचित होगा। 

सर्वप्रथम यह तय कर लेना जरूरी है कि भाग्य किस ग्रह द्वारा संचालित है यानी हाथ में कौनसा पर्वत क्षेत्र ज्यादा प्रभावी है। उसके स्वामी द्वारा ही उसका जीवन ज्यादा प्रभावित रहता है। 

उसे संक्षिप्त रूप में हम इस प्रकार जान सकते हैं: 

1. बृहस्पति: राजनीति, सेना या सामाजिक संगठनों में उच्च पद, अध्ययन-अध्यापन, सलाहकार, कर/आर्थिक विभाग, कानून एवं धर्म क्षेत्र। 

2. शनि: तंत्र, धर्म, जासूसी, रसायन, भौतिकी, गणित, मशीनरी, कृषि, पशुपालन, तेल, अनगढ़ कलाकृतियां इत्यादि। 

3. सूर्य: कला, साहित्य, प्रशासन संबंधी। 

4. बुध: इनडोर गेम्स, बोलने से जुड़े व्यवसाय, मार्केटिंग, विज्ञान, व्यापार, वकालत, चिकित्सा क्षेत्र, बैंक आदि। 

5. मंगल: साहसी कार्य, अन्वेषण खोज, खिलाड़ी, पर्वतरोहण, खतरों से भरे कार्य, सैनिक, पुलिस, जंगल या वन क्षेत्र इत्यादि। 

6. चन्द्र: कला, काव्य, जलीय व्यवसाय, तैराक, तरल वस्तुएं। 

7. शुक्र: कला, संगीत, चित्रकारी या गंधर्व कलाएं, नाटक इत्यादि, महिला विभाग, कम्प्यूटर, हस्तशिल्प, पयर्टन आदि।





जीवन रेखा | दोनों हाथो की जीवन रेखा को देखकर ही फलादेश करे


जीवन रेखा - योग, चिन्ह व भ्रान्तिया - आप जब भी जीवन रेखा से फलादेश करे तो यह अतिआवश्यक है की आप दोनों हाथो की जीवन रेखा को देखकर ही फलादेश करे।



जीवन रेखा - हस्तरेखा | Hast Rekha

जीवन रेखा - योग, चिन्ह व भ्रान्तिया - आप जब भी जीवन रेखा से फलादेश करे तो यह अतिआवश्यक है की आप दोनों हाथो की जीवन रेखा को देखकर ही फलादेश करे।  यहाँ बताये गए जीवन रेखा के सभी योग से फलादेश करते समय इस नियम का पालन करे फिर ही फलादेश करे।

1. अक्सर लोग अपने हाथ में छोटी जीवन रेखा देख कर चिंता में डूब जाते है की शायद इश्वर ने उनको कम उम्र दी है अपितु ऐसा नहीं है।  छोटी जीवन रेखा का मतलब कम उम्र कभी नहीं होता है।  जिन लोगो की जीवन रेखा कलाई (मणिबंद) तक जाती है या बहुत लम्बी और स्पष्ट होती है, वह लोग भी अकाल मृत्यु का ग्रास बन जाते है और उसके विपरित्त जिन लोगो के हाथो में छोटी व अस्पष्ट जीवन रेखा होती है वह लोग सौ वर्ष का जीवन बिना किसी शारीरिक कष्ट के व्यतीत कर लेते है। जीवन रेखा से आयु का अनुमान लगाना कदापि उचित नहीं है।  जीवन रेखा से व्यक्ति के स्वास्थ्य और पारिवारिक परिस्थितियो में आने वाले उतार चढाव का अनुमान लगाया जाता है।

2. दोहरी जीवन रेखा का अर्थ यह नहीं की व्यक्ति की जल्दी मृत्यु नहीं हो सकती है, ऐसे व्यक्ति की भी आकस्मिक मृत्यु हो सकती है।  दोहरी जीवन रेखा का अर्थ यह नहीं की व्यक्ति को जीवन में कभी कोई बीमारी होगी ही नहीं, ऐसे व्यक्ति को भी जानलेवा बीमारी हो सकती है।  दोहरी जीवन रेखा का अर्थ यह नहीं की व्यक्ति एक ही जीवन में दोहरा जीवन व्यतीत करेगा।  दोहरी जीवन रेखा बहुत कम लोगो के हाथो में पाई जाती है, हकीकत में ज्यादातर लोग मंगल रेखा और निकट से गुजरती हुई भाग्य रेखा को ही जीवन रेखा समझ लेते है, इस कारण वे अपने हाथ में दोहरी जीवन रेखा समझ लेते है।  दोहरी जीवन रेखा अर्थ यह है की अगर मुख्य जीवन रेखा दोषयुक्त है और दूसरी जीवन रेखा दोषमुक्त है तो काफी हद तक जीवन में आने वाली कठिनाइयों से व्यक्ति का बचाव हो जायगा। दोहरी जीवन रेखा अगर व्यक्ति के हाथ में है तो उस व्यक्ति को जीवनदान मिलने की संभावना हमेशा ज्यादा रहती है।

3. जीवन रेखा का दो भागो में खंडित होने के अर्थ यह नहीं है की व्यक्ति की उस समय पर मृत्यु हो जायगी।  यदि जीवन रेखा दोनों हाथो में भी खंडित हो तो भी मृत्यु का अनुमान लगाना उचित नहीं है।  जीवन रेखा के खंडित होने पर हम यह अनुमान लगा सकते है की उस समय व्यक्ति के पारिवारिक जीवन में कष्ट या परिवर्तन आना चाहिए या फिर व्यक्ति को कोई शारीरिक कष्ट आ सकता है।  जीवन रेखा के खंडित होने के बाद का भाग अगर अच्छा है तो हम ये अनुमान लगा सकते है की व्यक्ति जल्दी ही सभी मुसीबतों से छुटकारा पा लेगा और जल्दी ही उसके जीवन में सबकुछ पहले जैसा हो जायगा।

4. जिस व्यक्ति के हाथ में जीवन रेखा सपाट/सीधी होती है उस व्यक्ति को जीवन में संघर्ष करना पड़ता है लेकिन जिस व्यक्ति की रेखा गोलाकार होती है उस व्यक्ति को उतना संघर्ष नहीं करना पड़ता है।  जिस व्यक्ति की जीवन रेखा सीधी होती है उसका वैवाहिक और पारिवारिक जीवन संघर्षमय होता है।

5. यदि व्यक्ति के हाथ में जीवन रेखा आरंभ में गौपूछ की तरह प्रतीत होती हो तो ऐसे व्यक्ति का स्वस्थ्य बचपन में अच्छा नहीं रहता है।  ऐसे व्यक्ति को जिगर/पेट से सम्बंधित तकलीफ आती रहती है।  ऐसे व्यक्ति को जौंडिस हो सकता है।  ऐसे व्यक्ति का संभंध अपने पिता से तनावपूर्ण ही रहता है।

6. यदि व्यक्ति के हाथ में जीवन रेखा व मस्तक रेखा दोनों एक दूसरे के साथ गुथी/लिपटी हुई हो, अर्थार्थ दोनों एक दूसरे के साथ मिलकर कई क्रोस बना रही हो तो ऐसे व्यक्ति का स्वभाव कामुक होता है।  ऐसा व्यक्ति अत्यधिक हस्तमैथुन करने वाला व अश्लील विचारधारा रखने वाला होता है।  ऐसा व्यक्ति जल्दी भयभीत हो जाने वाला होता है !

7. यदि जीवनरेखा के बिल्कुल अंत से कोई शाखा निकल कर चन्द्र पर्वत जाती है तो उस व्यक्ति को मधुमेह का रोग होने की सम्भावना अधिक होती है।

8. यदि जीवन रेखा अंगूठे की जड़ से प्रारंभ हो तो ऐसे व्यक्ति का जीवन संघर्षमय होता है।

9. यदि जीवन रेखा गुरु पर्वत से प्रारंभ हो तो ऐसे व्यक्ति बहुत महत्वकांछी होते है व उनमे अहम् भाव भी ज्यादा होता है !

10. यदि जीवन रेखा कुछ दूर से प्रारंभ हो रही तो ऐसे व्यक्ति का बचपन संघर्षमय होता है।  व्यक्ति को बचपन में शारीरिक या पारिवारिक कष्ट देखने पड़ते है।

11. यदि जीवन रेखा का अंत चन्द्र पर्वत पर होता है तो ऐसे व्यक्ति की मृत्यु जन्म-स्थान से दूर होती है या हम यह अनुमान लगा सकते है की ऐसा व्यक्ति विदेश में बस जायगा हमेशा के लिए।  यदि स्त्री के हाथ में ऐसा है तो उसको गर्भाशय की बीमारी की सम्भावना और पुरुष है तो गुप्त रोग होने की सम्भावना रहती है।

12. यदि जीवन रेखा गुरु पर्वत के नीचे खंडित हो तो ऐसे व्यक्ति को उच्चाई से गिर कर चोट लगने का खतरा बना रहता है।  ऐसे व्यक्ति हीनभावना से गर्सित होता है।  जीवन रेखा जिस पर्वत के नीचे टूटी हुई होती है उस पर्वत से सम्बंधित रोग व तकलीफ व्यक्ति के जीवन में आती है।  किस पर्वत से कौन सा रोग होता है वह पर्वत के भाग में बताया जायगा।

13. यदि जीवन रेखा शनि पर्वत के नीचे खंडित हो तो ऐसे व्यक्ति को हथियार से चोट लगने का खतरा बना रहता है ! ऐसा व्यक्ति एकांतवासी होता है।

14. यदि जीवन रेखा सूर्य पर्वत के नीचे खंडित हो तो ऐसे व्यक्ति को कार्य में असफलता मिलती है वह पारिवारिक बदनामी भी मिलती है।

15. यदि व्यक्ति के हाथ में जीवन रेखा लहरदार, सीढ़ीदार, द्वीपयुक्त, व टुकडो में बनी हुई हो तो सबका एक ही मतलब है जीवन में बार-बार स्वास्थ्य या पारिवारिक तकलीफ का चलते रहना।

16. यदि जीवन रेखा अंत में गोपुछ की तरह हो तो वृद्धावस्था में तकलीफ आती है है।

17. यदि जीवन रेखा के अंत से कोई शाखा निकलकर शुक्र पर्वत पर जाती है तो वैवाहिक जीवन अच्छा नहीं होता है।

18. जीवन रेखा से ऊपर उठती हुई छोटी रेखाए, शुभ संकेत देती है, वही नीचे गिरती हुई रेखाए अशुभ संकेत देती है ! ऊपर जाती रेखाओ से तरक्की का अनुमान लगाना चाहिए व नीचे गिरनी वाली रेखाओ से बीमारी व पारिवारिक तकलीफ का अनुमान लगाना चाहिए।

19. जीवन रेखा के अंत में जीवन रेखा से जुड़ता हुआ वर्ग या क्रोस व्यक्ति को वैराग्य या कारावास की सजा होती है।

20. जीवन रेखा के भीतर से कोई शाखा निकलकर उसके साथ शुक्र पर्वत तक जाती है तो उसका मतलब व्यक्ति के जीवन में किसी विशेष व्यक्ति का प्रभाव है।

21. जीवन रेखा के आरंभ में यदि बड़ा द्वीप है तो उसका मतलब है व्यक्ति को जन्म लेते ही मृत्युतुल्य कष्ट आया होगा।  यदि जीवन रेखा के आरंभ में एक के बाद एक द्वीप है तो उसका मतलब व्यक्ति को काफी लम्बे समय तक बीमारी का सामना करना पड़ा होगा।  अगर व्यक्ति बीमार नहीं पड़ता है तो जरूर व्यक्ति के जन्म के बाद पारिवार पर कष्ट आया होगा।  आपने विभिन्न पुस्तकों में पढ़ा होगा की अगर जीवन रेखा के आरम्भ में द्वीप होता है तो व्यक्ति के जन्म में कोई रहस्य होता है लेकिन ऐसा नहीं है की सभी के साथ ऐसा होता है इसलिए यह फलादेश बहुत सोच समझ कर करे, पहेले दोनों हाथो को देख कर पुष्ठी कर ले की दोनों हाथो में बड़ा द्वीप जीवन रेखा के आरंभ में है फिर ही फलादेश करे।

22. यदि द्वीप जीवन रेखा के बीच में है तो उसका अर्थ है व्यक्ति को कोई बीमारी या पारिवारिक कष्ट से गुजरना पड़ेगा।

23. यदि द्वीप जीवन रेखा के अंत में बना हुआ है तो उसका अर्थ है की जीवन के अंत में ख़राब स्वास्थ्य व लम्बी बीमारी के पश्चात देहांत।

24. यदि जीवन रेखा को निम्न मंगल से कुछ रेखाए आकर काटती है तो उसका अर्थ है की व्यक्ति के जीवन में परिवार वालो का हस्तक्षेप जिसकी वजह से व्यक्ति को सदेव चिंता बनी रहती है।

25. यदि जीवन रेखा से कोई रेखा निकलकर गुरु पर्वत पर जाती है तो ऐसे व्यक्ति में अहंकार और महत्वकांछा ज्यादा होती है।  ऐसे व्यक्ति को गले और जिगर से सम्बंधित समस्या होती है।

26. यदि जीवन रेखा पर वर्ग हो तो व्यक्ति के जीवन में आने वाली दिक्कतों से बचाव हो जाता है।

27. यदि जीवन रेखा बहुत छोटी है लेकिन उससे जुडती हुई भाग्य रेखा निकल रही है तो ऐसे में आपको उस भाग्य रेखा के आरंभिक भाग को ही जीवन रेखा का अंतिम भाग मानना चाहिए।  अर्थार्थ यहाँ पर यह अनुमान नहीं लगाना चाहिए की इस व्यक्ति की जीवन रेखा छोटी है इसलिए इसकी मृत्यु जल्दी हो जानी चाहिए जब की यहाँ पर भाग्य रेखा ही जीवन रेखा का काम करती है।

28. यदि जीवन रेखा दो भागो में टूट गई हो और किसी एक भाग में से कोई रेखा निकल कर जीवन रेखा के टूटे हुए हिस्से को ढक देती है तो वह यह दर्शाती की व्यक्ति के जीवन में परेशानी तो आयगी लेकिन वो उस परेशानी से निकल जायगा।

29. यदि जीवन रेखा दो भागो में टूटी हुई है और दोनों भागो की रेखा एक दूसरे को काट रही है अन्दर की तरफ तो व्यक्ति को शारीरिक तकलीफ या पारिवारिक तकलीफ आती है लेकिन अगर बाद में जीवन रेखा अच्छी है तो वह जल्दी ही उस समस्या से निदान पा लेगा।

30. जीवन रेखा के अंत से नीचे गिरती हुई हुई छोटी रेखाए का अर्थ बुदापे में शारीरिक कष्ट देखना पड़ता है।

- नितिन कुमार

Copyright © 2011. All right reserved.

हस्तरेखा और उसका सच - हस्तरेखा का सिद्धांत

हस्तरेखा और उसका सच - हस्तरेखा का सिद्धांत


हस्तरेखा का मुख्य सिद्धांत यह है की फलादेश करते समय व्यक्ति के लिंग, देश, काल और जाती/धर्म का ध्यान रखना आवश्यक है, क्यों की व्यक्ति के जीवन पर इनका विशेष प्रभाव होता है ! अब मान लीजिये आप किसी महिला का हाथ देखते है और उस महिला के हाथ में तलाक का योग स्पष्ट है, लेकिन वह महिला एक ऐसे समाज से है जहा पर तलाक का अर्थ सिर्फ मृत्यु है तो अब ऐसे में आपका फलादेश सर्वथा गलत साबित होना ही है ! आप को यहाँ पर तलाक का ना कह कर सिर्फ इतना कह कर अपनी बात ख़त्म कर देनी चाहिए की आपका वैवाहिक जीवन संतोषजनक नहीं होना चाहिए !

हम सभी का भाग्य एक दूसरे से अलग होता है लेकिन हाथ में रेखाए सीमित होती है इसलिए एक ही योग के कई अर्थ होते है !

हथेली में पाए जाने वाली खडी रेखा हमेशा अच्छी होती है व आड़ी रेखा हमेशा बुरी होती है ! यदि खडी रेखा किसी भी मुख्य रेखा के साथ या किसी भी पर्वत पर पाई जाती है तो वो उसका प्रभाव बड़ा देती है इसके ठीक विपरीत यदि आड़ी रेखा किसी मुख्य रेखा को काट देती है या किसी पर्वत पर पाई जाती है तो उसका प्रभाव कम कर देती है !

यदि हाथ की तीनो मुख्य रेखा दोषमुक्त/स्पष्ट हो तो व्यक्ति को जीवन में जरूर सफलता प्राप्त होती है लेकिन अगर ये तीनो मुख्य रेखाये दोषयुक्त, कटी-फटी द्वीपयुक्त हो तो व्यक्ति को सफलता के लिए बहुत संघर्ष करना पड़ता है !




हम सभी लोग अपना और अपने प्रियजनों का भविष्य जानने के लिए हमेशा उत्सुक्त रहते है, कारण हम सभी को जीवन में अच्छे और बुरे समय से गुजरना पड़ता है !

भविष्य जानने के लिए विश्वभर में अनेक विद्याओ का प्रचलन है, उनमे से एक विद्या है हस्तरेखा शास्त्र !
भविष्य जानने के लिए ज्योतिष शास्त्र व हस्तरेखा शास्त्र का प्रचलन भारतवर्ष में प्राचीनकाल से है !

यदि किसी व्यक्ति के पास अपना जन्म समय नहीं है तो उसका भविष्य ज्योतिष शास्त्र से सही-सही बता पाना संभव नहीं है, व एक ही समय पर उत्पन्न दो जुड़वाँ भाइयो की जन्म कुंडली एक जैसी ही बनती है लेकिन उनका भाग्य एक-दूसरे से अलग होता है, लेकिन हस्तरेखा में व्यक्ति के जन्म समय जानने की जरूरत नहीं पड़ती है, व एक ही समय पर उत्पन्न दो जुड़वाँ भाइयो की हस्तरेखा भी एक जैसी नहीं होती है !

हस्तरेखा विज्ञान कोई भी व्यक्ति सीख सकता है, इसके लिए किसी भी विशेष समुदाय या वर्ग से होने की कोई आवश्यकता नहीं होती है, और ना ही इसके लिए किसी विशेष प्रकार की शिक्षा की आवश्यकता होती है ! कोई भी व्यक्ति निरंतर अभ्यास से अच्छा हस्तरेखा शास्त्री बन सकता है !

एक अच्छे हस्तरेखा शास्त्री की पहचान यही होती है की वो व्यक्ति की समस्या पर ध्यान दे और उसका निवारण करे ! एक अच्छे हस्तरेखा शास्त्री को व्यक्ति के मन में किसी भी तरह का भय उत्पन्न नहीं करना चाहिए !

हस्तरेखा शास्त्री को फलादेश करते समय व्यक्ति के लिंग, देश, काल और जाती/धर्म का ध्यान रखना चाहिए क्यों की व्यक्ति के जीवन पर इनका विशेष प्रभाव होता है !

आपने हस्तरेखा शास्त्र पर बहुत सारी पुस्तके पढ़ी होंगी लेकिन उन पुस्तकों को पढने के पश्चात आपके मन में कई सवाल उत्पन्न हुए होंगे जिनका उत्तर आप तलाश रहे होंगे ! सभी पुस्तकों में आपने पढ़ा होगा की यदि व्यक्ति के हाथ में भाग्य रेखा होती है तो व्यक्ति धनवान होता है ! यदि व्यक्ति के हाथ में जीवन रेखा छोटी हो तो व्यक्ति अल्पायु होता है ! यदि व्यक्ति के हाथ में एक से अधिक विवाह रेखा हो तो व्यक्ति के अनेक विवाह होते है या अनेक प्रेम सम्बन्ध होते है !

परन्तु जब आप विभिन्न व्यक्तियों के हाथ देखते है तो संशय में पड़ जाते है क्योकि गरीब व्यक्ति के हाथ में भी भाग्य रेखा होती है, अनेक विवाह रेखा होने पर भी व्यक्ति कुंवारा रह जाता है, छोटी जीवन रेखा होने पर भी व्यक्ति जीवित और स्वस्थ रहता है और इस कारणवश आपके मन में इस विद्या को लेकर ही संशय होने लगता है !

जब आप किसी विद्वान् हस्तरेखा शास्त्री से अपने मन में उत्पन्न इन संशयो को रखते है और वास्तविकता जानना चाहते है की ऐसा क्यों होता है जो कुछ पुस्तकों में लिखा होता है वह हमेशा सही क्यों नहीं होता है तब आपको एक ही जवाब मिलता है यह एक गुप्त विद्या है और इसके लिए अंतर्दृष्टि होना जरूरी है !

मै यहाँ पर एक बात स्पष्ट करना चाहता हूँ की कोई भी व्यक्ति एक पुस्तक पढ़ कर हस्तरेखा विज्ञान नहीं सीख सकता है कारण हस्तरेखा विज्ञान अथा सागर है, इसके लिए निरंतर अभ्यास की जरूरत होती है ! पुस्तक में सिर्फ हस्तरेखा के मूल को ही समझाया जा सकता है, उसकी जटीलता को नहीं ! हस्तरेखा की जटीलता को समझाने के लिए आपको स्वयं विभिन्न हाथो का निरिक्षण करना होगा !

मुझको बचपन से ही हस्तरेखा विज्ञान ने अपनी तरफ आकर्षित किया व मैंने बचपन से ही हस्तरेखा विज्ञान पर विभिन्न पुस्तके पढना शुरू कर दी व कुछ वर्षो पूर्व मैंने अंतरजाल पर भारतीय हस्तरेखा विज्ञान पर अपना मंच "भारतीय हस्तरेखा मंच" प्रारंभ किया !

हस्तरेखा की पुस्तक को पढने के पश्चात् आप सीधे ही फलादेश ना करने लगे बल्की पहले आप अपना और अपने परिजनों का हाथ देखे ताकि आप अपने ज्ञान को परख सके ! पुस्तक पढ़कर फलादेश न करे पहले अभ्यास करे !

- नितिन कुमार

Copyright © 2011. All right reserved.


Kaali Mirch Ke Totke Shani Sade Sati Ke Liye

Ghar mein agar buri najar lag gayi ho to 5-7 kaali mirch ko sarso ke tel ke diye mein daal kar kr jala de aisa karne pr ghar pr lagi buri najar door hogi.

Kali Mirch Ke Upay Karne Se Aapko Shani Ki Sade Saati Mein Labh Hota Hai.



1.) Kaale kapde ki thaili mein kuch kaali mirch aur paise daal kr ke shaniwar ko daan kar de.


2.) Ghar mein agar buri najar lag gayi ho to 5-7 kaali mirch ko sarso ke tel ke diye mein daal kar kr jala de aisa karne pr ghar pr lagi buri najar door hogi.


3). Dhan prapti aur karza utarana ke liye aapko ye upay karna chahiye.  Shaniwar ke din 5 kaali mirch leni hai aur kisi sunsan chaurahe pr chale jana hai jaha aapko koi dekhey na aur aapko apne sir ke upar se clockwise 7 baar ghuma lena hai aur ab aapko 4 kaali mircho ko charo dishao mein faik deni hai aur bacchi hui last 5th kaali mirch ko aasmaan mein faik dena (wo apne aap neeche jameen mein gir jaaygi) aur ab aapko wapis ghar chale jana hai.  


Aisa aap har shaniwar ko kar sakte hai ya mahine mein ek baar bhi kar sakte hai.

Agar aapki koi bhi samasya hai jaise marriage, career, naukari, astrology, black magic, tona totka, parivar, dushman, business, ya aur koi bhi samasya hai to neeche di gayi post ko padein yaha par sabhi tarah ki problem ka solution aur upay diya gaya hai.






लाजवर्त : 


लाजवर्त को धारण करने के बाद व्यक्ति पर राहु, शनि और केतु का दुष्प्रभाव खत्म हो जाता है । शनि , राहु और केतु के प्रकोप से बचाता है और दुर्भागय को दूर कर के व्यक्ति को सफलता दिलाता है । व्यक्ति पर बुरी नजर, काला जादू , टोने - टोटके का प्रभाव नहीं होता है । लाजवर्त कोई भी व्यक्ति धारण कर सकता है और सिद्ध कर के भेजा जाता है । भारत के सभी राज्यों के शहरो और गाँवों में कोरियर या स्पीड पोस्ट से भेजने की सुविधा है और भारत के बाहर विदेश में भी भेजने की सुविधा है ।

Laajwart Benefits : 

Lajwart nullify the malefic effects of Planet Saturn, Rahu & Ketu and protects from black magic, and evil eye. Removes Depression and laziness. Gives good success in career and in business. You will get energized Lajwart by courier at your home. You need to wear Lajwart in your right hand's middle finger in silver ring on Saturday. Male and female both can wear it. No side effect of Lajwart.  


लाजवर्त पत्थर के लाभ :

लाजवर्त तीनो क्रूर ग्रहो (शनि, राहु और केतु ) के दोषो और दुष्प्रभावो को खत्म करता है । 

यदि आपको शनि की साढ़ेसाती चल रही है तो आप लाजवर्त धारण कर सकते है और लाभ प्राप्त कर सकते है ।   

यदि किसी व्यक्ति द्वारा घर पर या आप पर कुछ किया-कराया हुआ अनुभव होता हो या फिर घर में वास्तुदोष हो तो लाजवर्त को धारण करने से लाभ मिलता है । 

काला जादू ख़त्म करता है और बुरी नज़र से बचाव करता है |

यदि आपको केतु और राहु की महादशा या अन्तर्दशा चल रही है तो आप लाजवर्द धारण कर सकते है और लाभ प्राप्त कर सकते है । 

नौकरी और व्यवसाय में आ रही अड़चनो को दूर करता है । 

पितृ दोष को खत्म करता है ।  

लाजवर्त विद्यार्थियों के लिए अत्यंत लाभदायक है । लाजवर्त विद्यार्थी का आत्म विश्वास बढ़ा देता है और विद्यार्थी की शिक्षा में एकाग्रता भी बढ़ जाती है । 

लाजवर्त को धारण करने के बाद धीरे धीरे आपके व्यवसाय में तरक्की होती है | यदि व्यवसाय काला जादू या टोना - टोटका की वजह से मंदा चल रहा है तो आपको लाजवर्त धारण करने से लाभ अवश्य मिलेगा ।   

अगर घर में बरकत नही होती है तो बरकत होने लगती है | 

अगर आपके शत्रु ज़्यादा है या आपका शत्रु आपको परेशान करता है या आप पर जादू टोना करवाता है तो आपका उसके किए हुए जादू टोना से बचाव करता है और आपके शत्रु को परास्त करता है | आपका शत्रु आपके सामने शक्तिहीन हो जाता है | 

लाजवर्त को धारण कर ने से डिप्रेशन/तनाव दूर होता है । और सेहत अच्छी होती है ।  

लाजवर्त  राहु, केतु और शनि द्वारा आ रही बाधाओ को दूर करता है और व्यक्ति को सफलता मिलने लगती है |

लाजवर्त को धारण करने के बाद व्यक्ति का दुर्घटना और एक्सीडेंट से बचाव रहता है । 

यदि आपकी कुंडली में कालसर्प दोष है तो आपको लाजवर्त धारण कर ने से लाभ अवश्य मिलेगा ।   

आपको लाजवर्त शनिवार को चाँदी की अंगूठी में बनवा के सीधे हाथ की मध्यमा उंगली (middle finger) में धारण करना है | 

आपको लाजवर्त कौरीयर सर्विस या स्पीड पोस्ट से भेजा जायगा और ट्रॅकिंग नंबर दिया जायगा |

सवाल और उनके जवाब :- 


सवाल: लाजवर्त को कैसे धारण करें ? 
जवाब: आपको लाजवर्त शनिवार को चाँदी की अंगूठी में बनवा के सीधे हाथ की मध्यमा उंगली (middle finger) में धारण करना है | 


सवाल: लाजवर्त (Lajwart) कैसे मिलेगा ? 
जवाब: आपको अपने घर का पता देना है और आपके घर के पते पर लाजवर्त (Lajward) कौरीयर सर्विस या स्पीड पोस्ट ( डाक ) से भेजा जायगा और ट्रॅकिंग नंबर और रसीद दी जाएगी | आपको लाजवर्त 5-6 दिन में मिल जाएगा । 


सवाल: पेमेंट कैसे करना है ? या पैसे कैसे भेजने है ? 
जवाब: आपको पैसे नीचे दिए गए SBI बैंक खाते में भेजने या जमा करवाने है |

सवाल:  क्या लाजवर्त (Lazward) को कोई भी राशि या लग्न वाला व्यक्ति धारण कर सकता है ?
जवाब :  हाँ । 

सवाल :  क्या लाजवर्त मिलने के बाद पेमेंट कर सकते है ?
जवाब :  ये सुविधा (COD) उपलब्ध नहीं है इसलिए आपको पहले मेरे अकाउंट में पेमेंट करना होगा और फिर आपको लाजवर्त भेजा जाएगा ।  



Price :

Lajwart Gemstone Rs. 600/- (No extra shipping charges) लाजवर्त की कीमत सिर्फ Rs. 600/- है और भेजने का कोई शुल्क नहीं है ।


SBI Bank: 
(State Bank of India)

Nitin Kumar Singhal
A/c No.: 35109551560
IFSC CODE: SBIN0003258
Branch: Shastri Nagar
City: Jodhpur, Rajasthan.


ORDER NOW

आप मुझको ईमेल भी कर सकते है और व्हाट्सप्प पर भी संपर्क कर सकते है । 

Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in

 


यदि आप लाजवर्त खरीदना चाहते है तो व्हाट्सप्प पर संपर्क करें । 
WHATSAPP: 8696725894

पार्सल ट्रैकिंग कैसे करें :-

अपने पार्सल का स्टेटस जानने के लिए या क्लिक करें । इस इंडिया पोस्टल विभाग की वेबसाइट पर आपको जो रसीद दी गयी है उस रसीद पर जो नंबर (ट्रैकिंग कोड) लिखा है उसको डालना है और ट्रैकिंग कोड डाल कर एंटर करने पर आपको आपके पार्सल की पूरी जानकारी मिल जाएगी की वह आपको कब तक मिल जाएगा और अभी कहा तक पंहुचा है ।

Tracking Website: http://www.indiapost.gov.in/speednettracking.aspx



उदहारण के तौर पर आप ये ट्रैकिंग नंबर: ER855949383IN डाल कर चेक कर सकते है । ये ट्रैकिंग नंबर डालने पर आपको जानकारी प्राप्त होगी की इस पार्सल को जोधपुर से 01/10/2015 को बुक किया गया था और व्यक्ति को 03/10/2015 को नई दिल्ली में अपने घर पर मिल गया है । 

Kala Jadu/Black Magic Ka Upay/Utara - Bewitchment




Kala Jadu/Black Magic Ka Upay/Utara - Bewitchment

KALA JADU (BLACK MAGIC)

काला जादू और टोन टोटके का पता करने का तरीका 

यदि आप पर किसी ने टोना टोटका किया हुआ है तो आप कैसे पता कर सकते है की आपके ऊपर या आपकी दुकान पर टोना टोटका किया हुआ है। 

काला जादू और टोन टोटके का पता करने का तरीका



सबसे पहले तो कुछ चीज़े होती है जिन से अनुमान लगता है की आपके ऊपर टोटका किया गया है -

१). आपको नींद बहुत ज्यादा आती हो और हर वक्त उबासी आती हो। 

२). आपको बदन में भारीपन और मीठा दर्द हर वक्त बना रहता होगा। 

३). आपको साफ़-सफाई की जगह गंदगी पसंद होने लगेंगे।  यहाँ गंदगी से मतलब नहाना नहीं , मंजन नहीं करना , साबुन नहीं लगाना , घर की सफाई न करना यानि साफ-सुथरा नहीं रहना और घर को भी साफ-सुथरा नहीं रखना। 

४). औरत है तो सपने में अपन साथ सेक्स होते देखना और पुरुष है तो किसी दूसरी औरत या अपनी औरत को किसी और पुरुष के साथ सेक्स करते देखना। 

५). बीमारी अजीब सी लग गयी हो इलाज करवाने पर भी इलाज लग नहीं रहा हो।  शहर के हर डॉक्टर को दिखा लिया और सभी टेस्ट करवा लिए लेकिन फिर भी बीमारी पकड़ में नहीं आ रही हो। 

६ ). पैरो और पिंडलियों में दर्द रहना। 

७). यदि बच्चे पर कला जादू किया होगा तो अचानक से बच्चे का गुमसुम हो जाना और पढ़ाई से मुँह फेर लेना मतलब पढ़ाई से दिल्चस्प्पी कम हो जाना।

८ ). रात को अचानक आँख खुल जाना ( डर के कारण ) और पसीने - पसीने हो जाना। 

९ ). घर में अचानक से कलह और दुखो का बढ़ जाना। 

१० ). अचानक से काम धंधा चौपट हो जाना। 

११ ). पेशाब में खून आना और बदबू आना। 

१२ ).  माहवारी अनियमित हो जाना और ज्यादा होना। 

१३ ). खाने में बाल आना रोजाना। 

१४ ). घर के बहार ज्यादा कौए दिखाई देना। 

१५ ). अचानक वजन कम होना और बाल ज्यादा झड़ना। 

१६ ). शरीर पर दाने आ जाना। 

१७ ).  अचानक से सेक्स की ज्यादा मन में आना या बिलकुल भी नहीं आना। 

१८ ). घर में साया दिखाई देना। 

अगर उपरोक्त लक्षण आपके साथ है तो आपको ये मान कर चलना चाहिए की आप पर टोना टोटका मलतब काला जादू किया गया है। 

इसको कन्फर्म करने के लिए आप ये उपाय करें -

१/२ किलो पालक बुधवार को खरीद ले और अपने सिरहाने रख कर सो जाय और सुबह गुरुवार के दिन किसी काली गाय को खिला दे।  यदि गाय नहीं खाती है और सिर्फ सूंग कर छोड़ देती है तो समझे की आप पर तांत्रिक क्रिया करि गयी है। हम एक बार में निष्कर्ष नहीं निकल सकते है इसलिए आपको 2 से 3 बुधवार ये प्रयोग करें और अलग अलग गाय पर करें। 

अब जब पता लग जाय की आप पर टोटका किया हुआ है तो उसको दूर कैसे करें और उस से कैसे बच सकते है। 

उसके लिए आपको रोजाना हनुमान चालीस का पाठ करना होगा और मंगलवार को सवा किलो मसूर की दाल अपने ऊपर से उबार कर के तालाब में मछलियों को खाने के लिए डाल दे। ये एक बार ही करें। और मिडिल फिंगर में गोमेद पहन लीजिये 6 रत्ती का उस से भी काला जादू का असर ख़त्म हो जायगा।


आपके उपर या आपके परिवार या दुकान पर किसी ने काला जादू या टोटका किया है तो आप ये असरदार उपाय करें -


मंतर :

ओम एक थो सरसों । 
सोला राई । 
मोरो पटवाल को रोजाई । 
खाय  खाय पड़े भर । 
जी करें ते मरें । 
उलट विद्या ताहि पे परें ।
शब्द साँचा । 
पिंड कांचा ।
हनुमान का मंतर साँचा ।
फुरो मंत्र इस्वरो वांचा । 


सामान जो चाहिए :-

पीली सरसों साबुत नमक और राई (तीनो चीज़े थोड़ी थोड़ी ले ले ) 

शनिवार की रात को सात बार इस मंतर को बोल कर इन तीनो चीज़ो पर फूक मारनी है और इनको कागज़ की पुड़िया में डाल कर के जला देना है और सड़क पर फैक देना है ।

ये उपाय एक बार ही करना है और आपके ऊपर जो भी क्रिया करी गयी है वो खत्म  उसका असर खत्म हो जाएगा ।


महत्वपूर्ण जानकारी :-

वशीकरण हेतु किसी भी तांत्रिक को पैसे न दे क्योकि ये एक  ठगी का धंधा है और आजकल बहुत सारें लोग वशीकरण की वेबसाइट बना कर के लोगो को लूट रहे है इसलिए कृपया ऐसे लोगो से दूर रहे ।

ये तांत्रिक लोग आपको विश्वास दिलाते है की आपका काम हो जाएगा और पैसे ले लेते है लेकिन आपका काम होता नहीं है और आपके पैसे देने के बदले ये लोग आपसे और पैसो की मांग करते है ।

ये तांत्रिक लोग ज्यादातर लोगो से पूजा के नाम पर पैसे लेते है । ये लोग व्यक्ति से कहते है की इनको पूजा करनी होगी जिसके सामान के लिए इनको पैसे चाहिए और व्यक्ति इस झांसे में आ जाता है और पैसे दे देता है पूजा के लिए और वह यह सोचता है की सब ठीक हो जाएगा पूजा होते ही लेकिन जब कुछ ठीक नहीं होता है तब वह तांत्रिक से संपर्क करता है तो तांत्रिक और पैसो की मांग करता है और कहता है की रुकावट आ रही है जबकि हकीकत में तांत्रिक कोई पूजा करता ही नहीं है ।

आप तांत्रिक से यही बोले की आपको पैसा मेरा काम होने के बाद ही मिलेगा उस से पहले कुछ नहीं मिलेगा अगर ईमानदार होगा तो वह आपका काम करेगा और बईमान होगा तो लाख कोशिश करेगा की आप से वो पैसा निकलवा सकें ।

ये सब बाते बताने का उदेश्य यही है की आप किसी भी ठग के झांसे में न आय ।

Agar aapki koi bhi samasya hai jaise marriage, career, naukari, astrology, black magic, tona totka, parivar, dushman, business, ya aur koi bhi samasya hai to neeche di gayi post ko padein yaha par sabhi tarah ki problem ka solution aur upay diya gaya hai.

Surma Se Mahboob Ya Mahbooba Ka Vashikaran

Surma Se Mahboob Ya Mahbooba Ka Vashikaran

Islami vashikaran tantra mein "vashikaran surma" ek atyant mahatpoorn staan rakhta hai.  Balki yu kaha jaay to koi atisykoti nahi hogi ki ye surma "vashikaran hetu bramhastra" hai jo kabhi nisfal nahi ho sakta hai.

Islami tantra mein vasikaran hetu surma atyant prbhaavshaali aur kaamyaab amal hai.  Is Surme ka pryog karke hajaaro hajaar nirash premiyo ne navjeevan prapt kar ke punha pryaas dawara apne prem mein safalata paai hai.

Agar aap bhi apne mahboob ki aur se purntah: nirash ho chuke hai aur apne samast premastro ko chod chuke hai to vashikaran ke is bramhastra ka upyogkijiye aur apni muhabat ko paaiye.

Vashikaran surma banane ki vidhi:


Sarpartham kisi bhi prkaar se apne mahboob dwara istemaal kiya gaya koi bhi kapde ka tukda prapt kar le.  Ab kala surma le kar use us kapde mein lapet le.  Tatpaschat kaneer ke pusph le kar unhe imaad daste mein koot le aur us mein kapde mein lipta hua surma rakh kar ke gola sa bana le.  Is gole ko chaya mein sukha le iske baad gobar ke uple (kande) le kar unko jala le (aap gas mein bhi jala sakte hai) aur unki aag mein goley ko pakka le aur thanda hone pr goley ko nikaal le aur phir goley ko kharal ya mixy mein pees le aur ek dum baareek surma taiyaar kar le.  Is prakaar se "vashikaran surma" bankar taiyaar ho jata hai.


Subah nahane ke baad dono aankho mein vah surma lagakar apne mahboob ke saamne jaay to vah aapse sammohit hokar ke aapke kadamo mein gir jaayga aur aapki muhabbat ka diwana ho jaayga.

Dhyan dene wali baat hai ki jis wakt surma laga kar mahboob ke pass jaa rahein ho to raste mein na to kisi se najare miley aur na aap khud milaay aur na hi kisi se baat karein warna ye amal kaam nahi karega aur aapke mahboob/mahbooba pr asar nahi hoga kyuki pehly aapki najar kisi aur se mil chuki hogi.

गुस्से में मायके चले जाना | Aurat Ka Gussa Ho Ke Mayke Chale Jana

औरत का गुस्सा होना 
(Aurat Ka Gussa Hona)

Agar aapki aurat aap se naraj rahati hai ya gussa rahti hai to aap ye totka ya upay kar sakte hai jis se aapki aurat aap se naraj nahi rahegi aur aapki baat manegi aur aapke pass khushi-khusi rahegi. 

औरत का गुस्सा होना

Aapki aurat gusse mein mayke chali gayi hai aur wapis nahi lot kar aa rahi hai to aap ye upay kar sakte hai.  Bahut baar aurate short tempered hoti hai yani ki jaldi bhadak jati hai aur baat baat par jhagra kar leti hai aur us wajah se shadishuda jindgi nark ban jati hai.


Agar aapki aurat ka sambandh bahar hai to bhi aap ye upay kar sakte hai aur yadi aapki aurat aapke mata-pita ke sath khrabh vyawahar karti hai to bhi aap ye upay kar sakte ho.

Aapko kisi bhi din apni aurat ke baal kaat lene hai aur uski photo ke sath unko jala dene hai aur rakh ko ghar ke bahar ja kar apne pairo se masal kar sadak par faik dena hai.  Aisa mahine mein kam se kam 2 baar karein.  

Ye baal aur foto se kiye jana wala saral vashikaran hai jo bahut prbhavkari hai.  Aapko asar dikhega aur aapki wife aapki baat sunane lagegi aur khusi khusi rahegi.


रोजगार प्राप्ति हेतु सिद्ध टोटका (Totka For Unemployment)


रोजगार प्राप्ति हेतु सिद्ध टोटका (Totka Totke For Job)


रोजगार प्राप्ति हेतु सिद्ध टोटका (Totka Totke For Job)


यदि नौकरी नहीं लग रही है या व्यापार में बरकत नहीं हो रही है तो आप ये सरल व प्रभावशाली टोटका का प्रयोग कर सकते है। 

ये पोस्ट भी जरूर पढ़ें -

लोगो के आजमाय हुए अचूक उपाय 

Aapki sahajata ko dekhte hue sabhi chamatkari upayo ko yaha ek sath diya ja raha hai isliye aap apni jaroorat ke anusaar koi bhi post ko pad saktein hai.

लाल किताब के चमत्कारी टोटके और उपाय
जल्दी नौकरी लगने के टोटके (Totka Totke To Get Job Fast)

1. शनिवार के दिन नहा-धोकर के पीपल के वृक्ष से एक पत्ता तोड़ ले फिर उस पीपल के पत्ते को एक बार साफ़ जल से धो ले उसके बाद पीपल के पत्ते को गंगा जल से शुद्ध कर ले फिर पीपल के पत्ते को एक थाली में रख ले फिर ग्यारह बार पत्ते को गायत्री मंत्र से अभिमंत्रित करे। अभिमंत्रित करने के पश्चात उस पत्ते को अपनी दूकान के गल्ले या जहा पर आप अपने पैसे रखते है (लोकर) में रख ले।  

ऐसा आपको हर शनिवार करना है मतलब नया पत्ता तोड़ना है और पुराना पत्ता लोकर से निकल कर के उसी पीपल के वृक्ष के पास डाल देना है और जो नया पत्ता तोडा है उसको अभिमंत्रित करके लोकर में रख लेना है। 

ये उपाय करने के कुछ समय के अंदर ही आप देखेंगे कि आपकी नौकरी लग जायगी व जिनका व्यापार है उनका व्यापार अच्छा चलने लगेगा। 


गायत्री मंत्र- ॐ र्भूभुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्। 

ऐसा करने से कुछ ही समय में व्यापार में वृद्धि और नौकरी जल्दी लग जाती है। 


2. सोमवार को फिटकरी ले और उसको तवे पर कुछ सेकंड गरम कर ले और फिर थोड़ी ठंडी कर के अपने सिर के ऊपर से सात पर घुमा ले और फिर फिटकरी को गुट्टर में फैक दे।  आपकी नौकरी शीघ्र ही लग जायगी। 


Dukan Ki Bikri Badhane Ke Liye Saral Totka/Upay


दुकान की बिक्री बढ़ाने के उपाय 

Dukaan Nahi Chalti To Karein Ye Saral Upay

Lakh kosheesh karne par bhi dukan nahi chal rahi, vyapar nahi bad raha, grahak nahi aa rahe aur saman nahi bik raha hai to is post ko dhyan se pade.

Jin dukandaro ki factory ya shop bahut kosheesh karne ke baad bhi nahi chal rahi hai aur karza badta ja raha hai to wo log ye achook totka kar ke dhan labh prapt kar sakte hai.

Jyadatar aajkal log ek dusare ki tarakki se jalte hai aur man mein jalan rakhte hai. Is karan wash dukan par nazar lag jati hai ya phir bahut baar dushman dukan par kriya karwa dete hai jis se achanak dukandari chopat ho jati hai.

Dukan par sale hona hi band ho jati hai aur naubat dukan band kar ne ki aa jati hai.

Bahut bar dukan ke main gate par log koi cheez daal dete hai ya tona totka kar dete hai jis se dukan mein nazar lag jati hai aur wo bandish mein aa jati hai.

Jab ek baar dukan bandh di jati hai to uske baad us dukan ko kholna bahut aur wapis chalana bahut muskil kaam hota hai.

Dukan ka malik bhatakta rahta hai sabhi jagah par usko tod nahi mil pata hai nateeza yahi hota hai ki uski dukan bik jati hai ya band ho jati hai aur wo karzdar ban jata hai.

Ab aapko kya karna chahiye apani dukan ko buri nazar se bachane aur dukan ki bikari badane ke liye taki aapko acchi income ho sake.

Mein kuch saral upay de raha hu wo karne se aapko labh hoga aur aapki dukan buri najar se bachi hui rahegi-

1). Sabse pehly dukan par shipatik ka kachua (tortoise) north-east mein rakhe aur tortoise ka face north ya east ki taraf rakhe aapko labh hoga.

Tortoise par agarbatti karein. Tortoise ke sath plate bhi le le aur usko us plate mein rakhein.

2). Maruti yantra mangalwar ke din apni dukan mein south ki diwar par isthapit kar de ya south ki wall ki taraf rakhe aur mangwal ko thoda gud ka daan karein (gaay ko 100 gm gud khila diya karein mangalwar ke din). Maruti yantra se kisi bhi tarah ka kala jadu aapki dukan par asar nahi karega.


Dukan Ki Bikri Badane Ke Liye Saral Totka/Upay


3). Ye totka guruwar ko shuru karna hai aur har guruwar ko karna hai. Dukaan ke mukhya dwaar (main gate) ke ek kone (corner) ko gangajal se shudh kr lena hai aur shudh karey hui jagah pr aapko haldi se swastik banana hai aur phir us swastik pr gud aur chawal chipka dena hai aur agarbatti karni hai. Aisa aapko har guruwar karna hai. Ye kaam aapko subah 11 baje se pehly karna hai.

Aapko swastik banane ke baad usko baar baar nahi dekhna hai warna aapko fayde ki jagah nuksan bhi ho sakta hai.


Ye sab upay karne par bhi dhande mein labh nahi ho raha hai aur vyapar nahi chal raha hai to neeche diye hue upay ko kare kyuki ye aur bhi powerful upay hai jisko karne se business mein safalta milne lag jati hai.

Dukan ke bahar se thodi si mitti leni hai aur us mitti mein thodi si lal mirch pisi hui aur thoda sa namak mila dena hai aur dukan ka malik apne upar se 7 baar ghuma le aur phir dukan mein bhi ghuma le (ek baar) phir us pudiya ko jis mein ye teeno cheez aap daal rakhi hai usko dukan ke bahar le ja kar ke sadak par jala dena hai aur bolna hai jis kisi ka bhi kiya hua hai uska usko hi wapis ho jaay aur agar sirf najar dosh hai to wo door ho jaay.

Ye upay bahut powerful hai aapko kuch hi dino mein iska asar dikhne ko milega aur agar kuch dino baad wapis aapko lagta hai ki kisi ne kuch kar diya hai to aap wapis is upay ko repeat kar sakte ho.



Dukaan Ko Buri Najar Se Bachane Ke Liye Upay


indian shop



Dukan aur business ko badane ke liye aap ye saral upay kar sakte.  Yadi aapka vyapar accha nahi chal raha hai ya dukaan mein ghaata (loss) ho raha hai to aap ye totka aajma sakte hai.  Adhikatar bharat mein log buri najar rakhte hai aur aapke dushman kuch kuch karwa dete hai jis se aapki dukan ya business mein fayde ki jagah loss hona shuru ho jata hai iske liye aap ye saral upay kar sakte hai. 


Aap aksar dekhte honge bahrat mein log apni dukaan ko buri najar se bachane ke liye mirch aur neembu ka istemal karte hai.  Aap bhi ek baar ye upay apni dukan pr kar sakte hai aur labh prapt kar sakte hai.  


Aapko ye upay mangalwar ya shaniwar ke din karna hoga.  Jab aap apni dukaan ko khole tab sabse pehly aapko ye kaam karna hoga.  Aapko subah bajaar ya sabji mandi se saat sabut hari mirch aur ke neembu (daag rahit) aur ek lakdi ke koyle ka tukda lena hoga phir aapko ek sui (needle) ki madad neembu aur saato hari mirch ko piro dena hai aur koyle ko un se bandh dena hai.  


Yaad rakhe ki koyla neeche rahega aur phir neembu aur phir upar sabhu hari mirch.  Aap is totke ki image dekh sakte hai. Aapko isko apni dukaan pr taang dena hai . Aapki dukaan ke mukhya darwaze (main gate) pr beech mein tankna hai.


ONLINE PALMISTRY READING




SEND ME YOUR PALM IMAGES FOR DETAILED AND PERSONALIZED
PALM READING




Question: I want to get palm reading done by you so let me know how to contact you?


Answer: Contact me at Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in.

Question: I want to know what includes in Palm reading report?

Answer: You will get detailed palm reading report covering all aspects of life. Past, current and future predictions. Your palm lines and signs, nature, health, career, period, financial, marriage, children, travel, education, suitable gemstone, remedies and answer of your specific questions. It is up to 4-5 pages.



Question: When I will receive my palm reading report?

Answer: You will get your full detailed palm reading report in 9-10 days to your email ID after receiving the fees for palm reading report.



Question: How you will send me my palm reading report?

Answer: You will receive your palm reading report by e-mail in your e-mail inbox.



Question: Can you also suggest remedies?

Answer: Yes, remedies and solution of problems are also included in this reading.


Question: Can you also suggest gemstone?

Answer: Yes, gemstone recommendation is also included in this reading.


Question: How to capture palm images?

Answer: Capture your palm images by your mobile camera
(Take image from iphone or from any android phone) or you can also use scanner.


Question: Give me sample of palm images so I get an idea how to capture palm images?

Answer: You need to capture full images of both palms (Right and left hand), close-up of both palms, and side views of both palms. See images below.






Question: What other information I need to send with palm images?

Answer: You need to mention the below things with your palm images:-

  • Your Gender: Male/Female

  • Your Age:

  • Your Location:

  • Your Questions:

Question: How much the detailed palm reading costs?

Answer: Cost of palm reading:


  • India: Rs. 600/-

  • Outside Of India: 20 USD
( For instant palm reading in 24 hours you need to pay extra Rs. 500 or 15 USD )
(India: 600 + 500 = Rs. 1100/-)
(Outside Of India: 20 + 15 = 35 USD)

Question: How you will confirm that I have made payment?


Answer: You need to provide me some proof of the payment made like:

  • UTR/Reference number of transaction.

  • Screenshot of payment.

  • Receipt/slip photo of payment.

Question: I am living outside of India so what are the options for me to pay you?

Answer: Payment options for International Clients:

International clients (those who are living outside of India) need to pay me 20 USD via PayPal or Western Union Money Transfer.

  • PayPal (PayPal ID : nitinkumar_palmist@yahoo.in)
    ( Please select "goods or services" instead of "personal" )

  • Western Union: Contact me for details.

Question: I am living in India so what are the options for me to pay you?

Answer: Payment options for Indian Clients:

  • Indian client needs to pay me 600/- Rupees in my SBI Bank via netbanking or direct cash deposit.

  • SBI Bank: (State Bank of India)

Nitin Kumar Singhal
A/c No.: 61246625123
IFSC CODE: SBIN0031199
Branch: Industrial Estate

City: Jodhpur, Rajasthan.
  • ICICI BANK:
(Contact For Details)

Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in




learn palmistry with images - part 1




Destiny Of Rich & Poor People




Rajyog on Hand (Hindi)




Client's Feedback - August 2018



If you don’t have your real date of birth then palmistry is there to help you for future life predictions.  Our palm lines, signs, mounts and shapes which are very useful in predicting the person’s life. We can predict your future from the lines and signs of your both palms. We can predict your future by studying your palm lines and signs. There is no need to send us your date of birth , time of birth , place of birth etc . Palm told the personality ,future ups and downs thus a experienced palmist can guide you to deal with upcoming challenges with vedic remedies.